Tuesday , December 12 2017

भाजपा लोगों का ध्यान भटकाने के लिए तीन तलाक के मुद्दे को तूल दे रही है: तारिक अनवर

पटना। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और बिहार के कटिहार से सांसद तारिक अनवर ने आज कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार एक सोची-समझी साजिश के तहत लोगों का ध्यान भटकाने के उद्देश्य से तीन तलाक मुद्दे को तूल दे रही है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

न्यूज़ नेटवर्क समूह न्यूज़ 18 के अनुसार अनवर ने दिल्ली रवाना होने से पहले यहां संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि योजनाबद्ध तरीके से बीजेपी सरकार इस मामले को उठाने में लगी हुई है। देश में गरीबी और बेरोजगारी सबसे बड़ी समस्या है जिस पर केंद्र सरकार की जरा भी ध्यान नहीं है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने चुनाव से पहले उसे दूर करने का वादा किया था लेकिन वह पूरी तरह विफल साबित हुई है। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि तीन तलाक समस्या को जितना तूल दिया जा रहा है, सत्य तो नहीं है। तीन तलाक का मामला सुप्रीम कोर्ट में है और सभी पक्षों को देखा जा रहा। लोगों को संविधान और अदालत पर भरोसा करना चाहिए. उन्होंने कहा कि देश में जो परंपरा चली आ रही है उसके मद्देनजर राजनीतिक दलों को इसमें दखल नहीं देना चाहिए ।

श्री अनवर ने राजद (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव पर भाजपा विधान परिषद के नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी के आरोपों पर पूछे गए एक सवाल के जवाब में कहा कि राजनीति में किसी पर निजी आरोप लगाना ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि अगर भाजपा नेता मोदी के पास सबूत है तो इसके लिए उन्हें अदालत जाना चाहिए।

अनवर ने कहा कि राजद अध्यक्ष श्री यादव पर भाजपा नेता मोदी निजी आरोप लगा रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बेनामी संपत्ति के लिए अभियान चला रहे हैं और इसके लिए प्रावधान भी किया गया है। उन्होंने कहा कि अगर किसी के पास बेनामी संपत्ति है तो इसके लिए आयकर विभाग, प्रवर्तन निदेशालय और केंद्रीय जांच ब्यूरो जैसी सक्षम एजेंसियां हैं।

श्री अनवर ने कहा कि राजनीति में विचारधारा की लड़ाई होनी चाहिए न कि निजी। भाजपा नेता श्री सुशील मोदी के अखबारों में बयान देने से कोई बात तथ्यात्मक नहीं हो सकती। उन्होंने बिहार में सत्तारूढ़ महान गठबंधन सहयोगी राजद और जदयू में बयान को लेकर चल रही मौखिक युद्ध के संबंध में पूछे जाने पर कहा कि दोनों पार्टियां वास्तविकता समझ रही हैं और ऐसे में कोई भी कदम उठाया जाना आत्महत्या किए जाने के मानिन्द होगा।

TOPPOPULARRECENT