Monday , December 11 2017

भाजपा-लोजपा का रिश्ता तय, रस्में बाकी

लोकसभा इंतिख़ाब से पहले बिहार में राजद और लोजपा के साथ एक तौसिह सेकुलर इत्तीहाद बनाने की कांग्रेस की मंसूबा को झटका देते हुए रामविलास पासवान के कियादत वाली लोक जनशक्ति पार्टी भाजपा के साथ इत्तीहाद करने को पूरी तरह तैयार है। लोजपा

लोकसभा इंतिख़ाब से पहले बिहार में राजद और लोजपा के साथ एक तौसिह सेकुलर इत्तीहाद बनाने की कांग्रेस की मंसूबा को झटका देते हुए रामविलास पासवान के कियादत वाली लोक जनशक्ति पार्टी भाजपा के साथ इत्तीहाद करने को पूरी तरह तैयार है। लोजपा 2002 में भाजपा के कियादत वाली राजग से अलग हुई थी।

भाजपा और लोजपा के दरमियान इत्तीहाद की ऐलान दो तीन दिनों में किये जाने की ईमकनात है। लोजपा पार्लियामानी बोर्ड ने इस बारे में आखरी फैसला करने के लिए पार्टी सरबराह रामविलास पासवान को हक़ दिया है। पार्टी ने लालू प्रसाद की कियादत वाली राजद के साथ अपनी दुश्मनी को भी नहीं छिपाया। रामविलास पासवान के बेटे और लोजपा पार्लियामनी पार्टी के सदर चिराग पासवान ने सहाफ़ियों से कहा, ‘‘लोजपा संसदीय बोर्ड ने एक तजवीज पास किया है कि अगर वे मजबूत हैं तो भी पार्टी के मुफाद में सभी कदम उठाये जाने चाहिए और अगर कोई ऑप्शन इत्तीहाद बनाना है तो पार्टी सदर राम विलास पासवान को फैसला लेना चाहिए.’’ उन्होंने कहा कि राजद, कांग्रेस और लोजपा के साथ इत्तीहाद के मुद्दे पर सरगर्मी है। यह पूछे जाने पर कि क्या लोजपा भाजपा के साथ इत्तीहाद करेगी उन्होंने कहा कि लोजपा के लिए अब सभी ऑप्शन खुले हैं।

लोक जनशक्ति पार्टी के संसदीय दल की बैठक खत्म हो गई है। ज़राये के मुताबिक इस बैठक में भाजपा और लोजपा के दरमियान सीटों को लेकर मूआहिदा हो गया है। बिहार में सात सीटों पर दोनों पार्टियों में मूआहिदा हुआ है।

इसके अलावा एक सीट औरंगाबाद को जेडीयू के मौजूदा एमपी सुशील सिंह के लिए छोड़ा जा रहा है। दरअसल, सुशील सिंह बीजेपी में शामिल होना चाहते थे लेकिन पार्टी के मुक़ामी एमएलए रामाधार सिंह के जबर्दस्त मुखालिफत की वजह से सुशील सिंह के लिए दरमियान का रास्ता निकाला गया है।

इंमकानात जताई जा रही है कि इस इत्तिहाद की ऐलान जुमेरात को बीजेपी के पीएम उम्मीदवार नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में दिल्ली में होगी। प्रेस कॉफ्रेंस में रामविलास पासवान ने कहा कि हमारे ऑप्शन खुले हैं। हमने राजद और कांग्रेस से बात की लेकिन हमें कोई जवाब नहीं मिला। इसको देखते हुए पार्टी किसी दीगर के साथ भी जाने का फैसला ले सकती है। उन्होंने कहा कि राजद के साथ हमारे इत्तीहाद में सरगर्मी है। भाजपा के साथ तालमेल समेत तमाम ऑप्शन खुले हैं।

TOPPOPULARRECENT