भाजपा शासित राजस्थान में महिला को नंगा कर पेड से बाँधकर पीटा,तमाशाबीन बनी रही पुलिस !

भाजपा शासित राजस्थान में महिला को नंगा कर पेड से बाँधकर पीटा,तमाशाबीन बनी  रही पुलिस !
Click for full image

यूँ तो देश में महिला हितों के लिये कई प्रकार की सरकारी और ग़ैर सरकारी संस्थायें कार्यरत हैं लेकिन उसके बावजूद देश में महिलाओं पर अत्याचारों में दिन ब दिन बढोत्तरी होती जा रही है ।

एक बार फिर मामला भाजपा शासित राज्य राजस्थान का है जहाँ पर स्वंय एक महिला मुख्यमंत्री होने के बावजूद वसुंधरा राजे के शासन में महिलाओं पर अत्याचारों और यौन उत्पीडन के मामले में अप्रत्याशित उछाल आ गया है । राजस्थान के अजमेर में स्वतंत्रता दिवस के मौके पर एक बार फिर जिस प्रकार एक महिला के साथ यौन उत्पीडन की घटना को अंजाम दिया गया उससे लगता है कि भारत तो ज़रूर आज़ाद हो गया है पर ये समाज दकियानूसी सोच से आज तक आज़ाद नहीं हो पाया है । दरअसल घटना अजमेर की अंबेडकर कच्ची बस्ती की है जहाँ पर पुलिस वालों के सामने एक असहाय महिला को नंगा कर पेड से बाँधकर उसके बालों को काटकर उसके शरीर पर थूका गया । उस महिला पर आरोप ये था कि वो महिला नौजवानों को गुमराह कर उनके साथ संबधों को बनाती है जिसका प्रभाव बच्चों और समाज पर पड रहा था । मात्र आरोप पर ही लोगों ने महिला को उसके घर से बाल पकड घसीट कर चौराहे पर लाकर पहले तो उसके बालों को काटकर उसको गंजा किया उसके बाद उसकी पिटाई कर उसको नंगा कर एक पेड से बाँध दिया । इस बात की सूचना कुछ लोगों ने पुलिस को फॉन करके दी परंतु मौके पर केवल एक कॉन्सटेबल ही पहुँचा जिसने बजाये महिला को छुडाने के वहीं वहशी भीड में शामिल हो इसका पूरा आनंद लिया । उस सिपाही के सामने ही उस महिला के साथ वहशीपन का जो नंगा नाच खेला गया उसने देश की पुलिस की छवि पर भी एक गहरा प्रश्न चिन्ह लगा दिया है कि ख़ाकी वर्देी में तैनात पुलिस वालों का काम न्याय व्यवस्था को बचाना है या उसके विपरीत गुंडों के सामने नतमस्तक होकर कानून का मखौल उडाना है ।

मात्र एक महीने के भीतर ही देश को शर्मसार करने वाली भाजपा शासित राज्य राजस्थान की ये लगातार तीसरी घटना है जहाँ पर भीडतंत्र के द्वारा महिलाओं के साथ बेइंताही दर्दनाक और अमानवीय कृत्यों को अंजाम देने का खेल बदस्तूर बेरोकटोक जारी है ।

Top Stories