Wednesday , May 23 2018

भाजपा सहयोगी अपना दल ने उत्तर प्रदेश में भाजपा के खिलाफ 4 सीटों पर उतारें अपने प्रत्याशी

अपने गठबंधन सहयोगी ‘अपना दल’ से नाराज भाजपा ने अपना दल को दी गई सीटो पर खुद के प्रत्याशी उतारने का निर्णय लिया है| अपना दल, अनुप्रिया पटेल  के नेतृत्व में पूर्वी उत्तर प्रदेश की चार सीटों पर भाजपा के खिलाफ चुनाव लड़ेगा|

उत्तर प्रदेश में गठबंधन में चुनाव लड़ने के बावजूद अपना दल रोहनिया, सेवापुरी और मरिहैं विधान सभा सीट से भाजपा के खिलाफ अपने प्रतयाशी मैदान में उतारा रहा है|

पार्टी का नेतृत्व कर रही नेता अनुप्रिया पटेल, एनडीए सरकार में केंद्रीय मंत्री है और २०१४ के लोक सभा चुनावो में उनकी पार्टी ने भाजपा के साथ गठबंधन करके चुनाव लड़ा था|

पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता बृजेन्द्र प्रताप सिंह ने कल चार प्रत्याशियों की सूचि जारी की थी| जिसके हिसाब से दो प्रत्याशी ‘उदय सिंह पटेल’ रोहनिया से और ‘नीलरतन पटेल’ सेवापुरी विधान सभा सीट से, जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विधान सभा क्षेत्र वाराणसी में आती है, चुनाव लड़ेंगे|

पास के जिले मरिज़पुर से अपना दाल ने शिव कुमार को मरिहैं और अनिल सिंह को चिनार विधान सभा सीट से उतारा है|

भाजपा और अपना दाल के बीच हुए गठबंधन समझौते की अनुसार, भाजपा ने सुरेंद्र नारायण यौधेय को रोहनिया, रमा शंकर पटेल को मरिहैं और अनुराग सिंह को चुनार विधान सभा सीट से प्रत्याशी घोषित किया था|

परंतु भाजपा के उत्तर प्रदेश के राज्य अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या द्वारा भाजपा के सुरेंद्र चौधरी को अपना आदमी की प्रस्तावित सीट ‘सोरों’ से सीट दिए जाने पर हालात बदल गए, अपना दल ने इस बात पर नाराज़गी जताने के साथ इसी सीट से जमुना प्रसाद को अपने प्रत्याशी के तोर पर खड़ा किया है, सिंह ने बताया|

अपना दाल ने मौर्या से मांग की थी की वह अपना दल को दी गई सीट से अपने प्रत्याशी को हटाए लेकिन मांग की अनसुनी किये जाने के बाद, पार्टी ने एसी चार सीटों पर अपने उम्मीदवार खड़े कर दिए, जहाँ से उन्हें अपने जितने की उम्मीद है|

अपना दल को गठबंधन के तहत १२ सीटें दी गई थी जबकि उनकी मांग १२ से ज्यादा सीटों की थी, पार्टी के प्रवक्ता ने बताया|

TOPPOPULARRECENT