भारत की पहली COVID-19 वैक्सीन के ह्यूमन ट्रायल की मिली मंजूरी

भारत की पहली COVID-19 वैक्सीन के ह्यूमन ट्रायल की मिली मंजूरी

भारत की पहली कोविड19 वैक्सीन कैंडिडेट COVAXIN को फेज 1 और फेज 2 ह्यूमन क्लीनिकल ट्रायल्स के लिए दवा नियामक DCGI की मंजूरी मिल गई है. CNBC TV 18 की रिपोर्ट के अनुसार, ह्यूमन ट्रायल जुलाई में शुरू होंगे. इस वैक्सीन को Bharat Biotech ने बनाया है.

Bharat Biotech ने COVAXIN वैक्सीन को इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) और नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (NIV) के साथ मिलकर बनाया है. वैक्सीन को बनाने के लिए NIV, पुणे में आइसोलेट SARS-CoV-2 स्ट्रेन को भारत बायोटेक को ट्रांसफर किया गया. पूरी दुनिया में इस समय कोविड19 की वैक्सीन के लिए कोशिशें चल रही हैं. अभी तक किसी को सफलता हाथ नहीं लगी है. हालांकि कुछ कंपनियां ह्यूमन ट्रायल्स के आखिरी चरण में हैं.

चीन की मिलिट्री करेगी संभावित वैक्सीन का इस्तेमाल

सोमवार को चीन की मिलिट्री को कोविड19 की एक संभावित वैक्सीन Ad5-nCoV का इस्तेमाल करने के लिए मंजूरी मिल गई. इस वैक्सीन को चीन की मिलिट्री की रिसर्च यूनिट और CanSino Biologics ने तैयार किया है. CanSino Biologics ने कहा है कि क्लीनिकल ट्रायल्स में साबित हुआ है कि यह कैंडीडेट वैक्सीन सुरक्षित है. Ad5-nCoV चीन की कंपनियों और रिसर्चर्स द्वारा बनाई गई उन 8 वैक्सीन कैंडिडेट्स में से एक है, जिन्हें कोरोनावायरस से कारण पैदा हुई रेस्पिरेटरी बीमारियों के इलाज के लिए ह्यूमन ट्रायल्स की मंजूरी मिल चुकी है.

CanSino ने एक फाइलिंग में कहा है कि चीन की सेंट्रल मिलिट्री कमीशन ने 25 जून को मंजूरी दी कि चीन की मिलिट्री Ad5-nCoV वैक्सीन का एक साल के लिए इस्तेमाल कर सकती है. इस वैक्सीन को CanSino और बी​जिंग इंस्टीट्यूट ऑफ बायोटेक्नोलॉजी ने मिलकर एकेडमी ऑफ मिलिट्री मेडिकल साइंसेज में तैयार किया है.

Top Stories