Saturday , September 22 2018

भारत के साथ रक्षा सहयोग पर अमेरिका के सदन में बिल पास

वाशिंगटन। अमेरिका की प्रतिनिधि सभा ने भारत के साथ रक्षा सहयोग बढ़ाए जाने और पाकिस्तान को मिलने वाली अमेरिकी आर्थिक सहायता के नियमों को कड़ा करने संबंधी आज दो महत्वपूर्ण विधेयकों को पारित किया। प्रतिनिधि सभा ने 621.5 अरब डॉलर का रक्षा व्यय विधेयक पारित किया है जिसमें भारत के साथ रक्षा सहयोग बढ़ाए जाने का प्रस्ताव रखा गया है।

भारतीय अमेरिकी सांसद एमी बेरा द्वारा इस संबंध में पेश किए गए संशोधन को सदन ने ‘नेशनल डिफेंस ऑथोराइजेशन एक्ट (एनडीएए) 2018’ के भाग के रूप में ध्वनिमत से पारित किया। यह कानून इस वर्ष एक अक्तूबर से लागू होगा। एनडीएए-2018 को सदन ने 81 के मुकाबले 344 मतों से पारित किया था।

अमेरिकी सीनेट की ओर से इस विधेयक को मंजूरी मिलने के बाद यह कानून बन जाएगा। सदन द्वारा पारित भारत संबंधी संशोधन में कहा गया है कि विदेश मंत्री के साथ चर्चा कर रक्षा मंत्री अमेरिका एवं भारत के बीच रक्षा सहयोग बढ़ाने की रणनीति बनाएंगे।

बेरा ने कहा कि अमेरिका दुनिया का सबसे पुराना और भारत सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है। यह बहुत महत्वपूर्ण है कि दोनों देशों के बीच रक्षा सहयोग बढ़ाने के लिए रणनीति विकसित की जाए। एनडीएए-2018 पारित किए जाने के बाद विदेश मंत्रालय और पेंटागन को एक ऐसी रणनीति तैयार करनी होगी, जो साझा सुरक्षा चुनौतियों से निपटने में सक्षम हो।

TOPPOPULARRECENT