भारत ने पैसे देकर की थी मुझे खरीदने की कोशिश: मसूद अजहर

भारत ने पैसे देकर की थी मुझे खरीदने की कोशिश: मसूद अजहर
Click for full image

इस्लामाबाद: आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद सरगना मौलाना मसूद अजहर ने चौकाने वाला बयान दिया है। मसूद अजहर ने दावा किया है कि कंधार कांड के बाद भारत ने उसे पैसों से खरीदने की कोशिश की थी। भारत के तत्कालीन विदेश मंत्री जसवंत सिंह ने तालिबान से पैसों के एवज में उसे और उसके दो अन्य साथियों को दोबारा भारत को सौंपने की पेशकश की थी। उस वक्त जसवंत सिंह ने ये बात तालिबान के उड्डयन मंत्री रहे मुल्ला अख्तर मोहम्मद मंसूर से की थी। जिसकी बीते महीने अमेरिकी ड्रोन हमले में मौत हो गई। मसूद ने ‘सईदी की कलम’ वाले कॉलम में अपने औपर मंसूर के संबंधों जिक्र करते हुए भारत के खिलाफ बयान लिखा है। अपने शोक संदेश में मसूद ने लिखा है कि एक बार उसने कंधार एयरपोर्ट पर मुल्ला अख्तर मोहम्मद मंसूर के साथ मीटिंग की थी। एयरपोर्ट उसी के मंत्रालय का हिस्सा था। मसूद के मुताबिक मुल्ला मंसूर उसे वीआईपी लाउंज में ले गया और सामने वाले सोफे पर बैठाने के बाद कहा कि ये वहीं सोफा है जिस पर भारतीय विदेश मंत्री जसवंस सिंह बैठे थे और उन्होंने उसकी गिरफ्तारी के एवज में पैंसों की पेशकश की थी।आपको बता दें कि मसूद अजहर वही आतंकी है जिसे साल 1999 में कंधार विमान अपहरण कांड के बाद यात्रियों को छोड़ने के एवज में भारत सरकार ने 2 अन्य आतंकियों के साथ रिहा किया था।

 

Top Stories