Monday , September 24 2018

भारत में पहली बार आयकर विभाग ने बिटकॉइन एक्सचेंजों का किया निरीक्षण

Choosing bitcoins, businessman pressing touch screen button.

नयी दिल्ली : भारत में पहली बार आयकर विभाग द्वारा बिटकॉइन एक्सचेंजों की जांच की गई है. कर चोरी के आरोपों की जांच के लिए आयकर विभाग ने बुधवार को पहली बार देश के कई बड़े बिटकॉइन एक्सचेंजों का निरीक्षण किया है. आयकर अधिकारियों के अनुसार बेंगलुरु जांच शाखा के नेतृत्व में उसके अधिकारियों ने आज सुबह दिल्ली, बेंगलुरु, हैदराबाद, कोच्चि और गुरुग्राम के नौ एक्सचेंजों की जांच की है.

एक अधिकारी के मुताबिक, ‘सर्वे का यह काम आयकर कानून की धारा 133ए के तहत किया गया है. इसका मकसद बिटकॉइन के निवेशकों और कारोबारियों के अलावा उनके साथ लेन-देन में शामिल दूसरे पक्ष की पहचान के प्रमाण जुटाना और उनके बैंक खातों का रिकॉर्ड हासिल करना था.’ सूत्रों ने बताया है कि आयकर विभाग के पास बिटकॉइन एक्सचेंजों के क्रियाकलाप के बारे में कई तरह की जानकारियां और सूचनाएं पहले से हैं.

बिटकॉइन एक आभासी करेंसी है जो डिजिटल कोड से बनी होती है. भारत सहित दुनिया के किसी भी देश की सरकारी एजेंसी का इस पर कोई नियंत्रण नहीं है. ऐसे में तेजी से बढ़ रहे इसके लेनदेन के कारोबार से सरकार की चिंताएं काफी बढ़ गई हैं. भारतीय रिजर्व बैंक भी कई बार बिटकॉइन जैसी तमाम आभासी करेंसी के बारे में कारोबारियों और उपभोक्ताओं को सतर्क कर चुका है. केंद्र सरकार इस साल मार्च में ही देश-विदेश की सभी आभासी मुद्राओं से निबटने का उपाय सुझाने के लिए एक उच्चस्तरीय समिति बना चुकी है.

TOPPOPULARRECENT