भारत-श्रीलंका मैच के दौरान ‘जस्टिस फ़ॉर कश्मीर’ बैनर लगा उड़ा विमान, मचा हड़कंप !

भारत-श्रीलंका मैच के दौरान ‘जस्टिस फ़ॉर कश्मीर’ बैनर लगा उड़ा विमान, मचा हड़कंप !

भारतीय टीम आज श्रीलंका के खिलाफ लीड्स में विश्वकप का अपना आखिरी लीग मैच खेल रही है. ऐसे में विश्वकप के मुकाबले में खिलाड़ियों की सुरक्षा को लेकर विवाद खड़ा हो गया है. मैदान पर भारतीय टीम के मैच के दौरान मैदान के ऊपर से एक हवाई जहाज़ ने चक्कर लगाए. जिसके साथ ‘जस्टिस फोर कश्मीर’ का स्लोगन भी था.

दरअसल आज मैच के दौरान भारत और श्रीलंका की टीम जब मैदान पर विश्वकप का मुकाबला खेल रही हैं. तब मैदान के ऊपर से एक या दो नहीं बल्कि पूरे 5 बार एक हवाईज़हाज गुज़रा जिसके पीछे ‘जस्टिस फोर कश्मीर’ के स्लोगन वाला पोस्टर भी था.

इसके बाद एक बार फिर से हवाईजहाज़ लौटकर आया चार बार फिर से मैदान का चक्कर लगाया. हालांकि जानकारी के मुताबिक इस बार उसने ‘जस्टिस फोर कश्मीर’ का पोस्टर हटाया हुआ था.

खबरों के मुताबिक ये सब देखकर पुलिस भी हैरान नज़र आई क्योंकि हवाई जहाज़ के साथ ‘जस्टिस फोर कश्मीर’ जैसा स्लोगन भी लगा हुआ था.

हालांकि इस बारे में ना तो पुलिस को और ना ही आईसीसी को ऐसी जानकारी है कि ये जहाज कहां से आया और इसे कौन उड़ा रहा था.

लेकिन एक अंतराष्ट्रीय मैच के दौरान मैदान के ऊपर कोई जहाज़ एक नहीं बल्कि 5 बार चक्कर लगा रहा है और इस बारे में ना तो इंग्लैंड की पुलिस और ना ही आईसीसी के सुरक्षाकर्मियों को कोई जानकारी है. ये बेहद ही हैरान करने वाली घटना है. इसे खिलाड़ियों की सुरक्षा में चूक का मामला माना जा रहा है. क्योंकि इस तरह से कोई भी बड़ा हादसा हो सकता है.

आपको बता दें कि विश्वकप 2019 के भारत-पाकिस्तान मुकाबले में भारत ने बाज़ी मारी थी, जबकि दूसरी तरफ बीती रात ही मैच जीतकर भी पाकिस्तान की टीम खराब नेट रनरेट के आधार पर विश्वकप 2019 से बाहर हो गई है.

भारत और पाकिस्तान के बीच कश्मीर को लेकर कई सालों से विवाद है.

इस पूरे मामले में आईसीसी के प्रवक्ता का भी बयान आ गया है. उन्होंने कहा, ”हम बेहद शर्मिंदा हैं कि ऐसा फिर से हुआ, हम आईसीसी पुरुष विश्वकप के दौरान ऐसे किसी भी राजनीतक बयान या नारे को जगह नहीं देते. पूरे टूर्नामेंट में हमने इस प्रकार के विरोध प्रदर्शन को रोकने के लिए देश भर के स्थानीय पुलिस बलों के साथ काम किया है. पहले भी इस तरह की घटना के बाद हमें यॉर्कशायर पुलिस से ये आश्वासन मिला था कि ऐसी घटना फिर से नहीं होगी.

इसलिए हम बहुत असंतुष्ट हैं यह फिर से हुआ है.”

Top Stories