Wednesday , November 22 2017
Home / Khaas Khabar / मंडी हाउस से संसद मार्ग तक गुंजा-नजीब को वापस लाओ!

मंडी हाउस से संसद मार्ग तक गुंजा-नजीब को वापस लाओ!

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के लापता छात्र नजीब अहमद को लेकर बुधवार को दिल्ली के मंड़ी हाउस से संसद तक विरोध मार्च निकाला गया। उस मार्च में नजीम के घर वालों समेत जेएनयू के सैकडों छात्रों ने भाग लिया। इन्होंने मांग की कि नजीब को जल्द ढूंढ़कर लाया जाए।

इस मार्च में ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के प्रेसीडेंट और सांसद असदुद्दीन ओवैसी और समाजवादी पार्टी के सांसद धर्मेंद्र यादव और जनता दल (यू) के नेता और सासंद अली अनवर अंसारी ने भाग लिया। इस दौरान छात्रों और नजीब के परिवार वालों ने आरोप लगया कि पुलिस जान-बूझकर सही से काम नहीं कर रही है। छात्रों ने कहा कि देश का संसद खामोश है और सरकार अपनी जिम्मेदारी नहीं निभा रही है।

अनवर अंसारी ने कहा कि नजीब की गुमशुदगी का मामला सिर्फ एक बच्चे का मामला नहीं है। यह घटना देश के लोकतंत्र के लिए खतरा है। संघ के विचारधारा  विश्वविध्यालय में आ गई है, इसलिए हमारा संघर्ष सिर्फ नजीब की वापसी तक के लिए नहीं है। उन्होंने कहा कि छात्र नजीब की गुमशुदगी में एबीवीपी का इंवॉल्मेंट है और उनको संघ की तरफ से शह मिल रही है। उन्होंने यह भी कहा कि पुलिस और जेनयू प्रशासन भी उनका साथ दे रही है। ये फांसीवाद है। नजीब की अम्मी की लड़ाई में हम उसके साथ है।

जेएनयू छात्रसंध अध्यक्ष मोहित पांडेय ने कहा कि इससे पहले उमर खालिद के मामले को साम्प्रादायिक बनाने को कोशिश की गई थी और अब एवीबीपी इस मामले को भी कम्यूनल रंग देना चाहती है। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने नजीब को पीटा उन पर अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की गई। मोहित ने यह भी बताया कि विश्वविद्यालय प्रशासन प्रॉक्टर की पहली रिपोर्ट को मानकर चल रहा है, जिसमें कहा गया है कि नजीब के साथ कोई हिंसा नहीं हुआ था। जबकि दूसरे वाले रिपोर्ट में हमले की बात कही गई है जिसे विश्वविद्यालय मानने को तैयार ही नहीं है।

दूसरी तरफ बदायूं के सासद धर्मेंद्र यादव ने कहा कि नजीब की इस लड़ाई में हम उनके साथ है। जब तक नजीब का पता नहीं मिलेगा तब तक हम इस मामले को ठंडा नहीं होने देंगे। उन्होंने नजीब की मां से कहा कि आप अपने बेटे की इस लड़ाई में अकेली नहीं हैं, हमसब आप के साथ है।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के बदायूं का रहने वाले नजीब जेएनयू हॉस्टल से लगभग 55 दिनों से गायब है। नजीब स्कूल ऑफ बायोटेक्नोलॉजी का छात्र है। बताया जाता है कि उसके लापता होने के पहले यूनिवर्सिटी कैंपस में एबीवीपी के कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट हुई थी। उस घटना के ठीक एक दिन बाद यानी 15 अक्तूबर से नजीब को कैंपस से लापता पाया गया।

TOPPOPULARRECENT