Tuesday , December 12 2017

मंदिर में पूजे जाएंगे कांशी राम

रूपनगर, 14 मार्च: बहुजन समाज को मुल्क के सत्ता का रास्ता दिखाने वाले साहब कांशी राम अब अपनी (जाए अमल (कर्मभूमि) पंजाब में पूजे जाएंगे। दलित-पिछड़े समाज ने जहां बड़े एहतेराम से उन्हें साहब का दर्जा दिया, वहीं अब इससे भी बढ़कर उनके हामी उन

रूपनगर, 14 मार्च: बहुजन समाज को मुल्क के सत्ता का रास्ता दिखाने वाले साहब कांशी राम अब अपनी (जाए अमल (कर्मभूमि) पंजाब में पूजे जाएंगे। दलित-पिछड़े समाज ने जहां बड़े एहतेराम से उन्हें साहब का दर्जा दिया, वहीं अब इससे भी बढ़कर उनके हामी उन्हें भगवान का दर्जा देने जा रहे हैं। उनकी याद में उन्हीं के पैदाइशी कस्बा बुंगा साहिब (रूपनगर) में एक मंदिर बनाया गया है।

कस्बा बुंगा में उनका ननिहाल है। 15 मार्च को उनकी पैदाइश का दिन है। उन्हें अपना मसीहा समझने वाले लोगों ने इसी दिन उनकी याद में बनाए गए मंदिर का इफ्तेताही तकरीब रखा है। मंदिर में साहब कांशी राम का आदमकद मुजस्समा नसब किया गया है। मंदिर की तामीर का काम कांशी राम चेरिटेबल फाउंडेशन की ओर से किया गया है। फाउंडेशन की चेयरमैन कांशी राम की बहन स्वर्ण कौर हैं।

मंदिर के बाहर बहुजन समाज पार्टी का चुनाव निशान दो हाथियों के बड़े बुत लगाए हैं। दोनों हाथियों का वजन 90-90 क्विंटल है। जयपुर के कारीगरों ने साहब कांशीराम की आदमकद मुज़स्समा तैयार किए है। मंदिर के निचले हिस्से में कांशीराम जी के नाम पर लाइब्रेरी भी कायम किया जा रहा है।

TOPPOPULARRECENT