Thursday , November 23 2017
Home / Bihar News / मंदिर विवाद मे दिखी हिन्दू-मुस्लिम एकता

मंदिर विवाद मे दिखी हिन्दू-मुस्लिम एकता

imageवैशाली। हाजीपुर नगर थाना क्षेत्र के बगमली मोहल्ले में हाईकोर्ट के आदेश पर मंदिर तोड़ने गई पुलिस पर आक्रोशित लोगों ने मंगलवार की रात जमकर पथराव किया। ग्रामीणों ने एएसपी की गाड़ी और एक ट्रैक्टर को जला डाला तथा छपरा टाउन थाना के सब इंस्पेक्टर संजय सिंह की सर्विस रिवाल्वर भी छीन ली। घटना में कई पुलिसकर्मी घायल हो गए। घटना-स्थल पर कई जिलों की पुलिस कैंप कर रही है।
सड़क जाम, यातायात ठप
मंदिर को बचाने को ले स्थानीय लोगों ने आज सुबह से हाजीपुर-लालगंज सड़क जाम कर यातायात बाधित कर दिया है। आक्रोशित लोग अभी भी मंदिर के पास ही डटे हुए हैं। लोगों का कहना है कि वे किसी भी हाल में मंदिर को हाथ नहीं लगाने देंगे। खास बात यह है कि मंदिर को बचाने के लिए केवल हिंदु ही नहीं, बल्कि अन्य धर्मावलंबी भी वहां डटे हुए हैं।
हाई लेवल मीटिंग जारी इस बीच तिरहुत के कंमिशनर अतुल प्रसाद, आइजी पारसनाथ एवं डीआइजी हाजीपुर पहुंचे हैं। इस मुद्दे पर अभी सर्किट हाउस में हाई लेवल मीटिंग जारी है।
हाईकोर्ट ने दिया है आदेश
दरअसल पटना हाईकोर्ट ने बगमली के बासुदेव मंदिर को तोड़ने का आदेश दिया था। आदेश का अनुपालन नहीं होने को लेकर अवमानना वाद की सुनवाई करते हुए कोर्ट ने डीएम रचना पाटिल और हाजीपुर नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी को तलब कर जमकर फटकार लगाई थी।
इसके साथ कोर्ट ने आदेश के अनुपालन का निर्देश दिया था। इसका संज्ञान लेते हुए पांच दिनों पहले भी काफी संख्या में पुलिस बल को भेजकर मंदिर तोड़ने की कोशिश की गई थी, पर सफलता नहीं मिल पाई थी। उस समय काफी संख्या में जुटे ग्रामीणों ने पुलिस को वापस भेजने पर मजबूर कर दिया था।
मुख्य सचिव की कोर्ट में पेशी आज
25 जनवरी को दुबारा मामले की सुनवाई करते हुए वैशाली की डीएम रचना पाटिल और नगर परिषद् के कार्यपालक पदाधिकारी को जमकर फटकार लगाते हुए कोर्ट ने बिहार के मुख्य सचिव, गृह सचिव और नगर विकास के प्रधान सचिव को 27 जनवरी को कोर्ट में तलब करने की तिथि निर्धारित की है। इसके बाद कोर्ट के आदेश का अनुपालन कराने को लेकर मंगलवार को फिर से मंदिर तोड़ने के लिए काफी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई ।
पुलिस कार्रवाई से उग्र हो गए ग्रामीण
पुलिस को देखते ही ग्रामीण काफी संख्या में घरों से निकलकर मंदिर के पास पहुंच गए। रात करीब 10 बजे जैसे ही मौके पर पहुंचे डीएम और एसपी ने मंदिर तोड़ने का आदेश दिया, भीड़ उग्र हो गई।
ग्रामीणों के पथराव के कारण करीब दो दर्जन पुलिसकर्मी घायल हो गए, जिनमें आधा दर्जन से अधिक महिला पुलिसकर्मी शामिल हैं। अाक्रोश को देखकर मौके से डीएम और एसपी सहित पूरे पुलिस फोर्स को भागना पड़ा। लोग आज भी मंदिर के पास डटे हुए हैं।
घटना-स्थल पर जबरदस्त तनाव आक्रोशित लोगों ने मंदिर के पास हाजीपुर-लालगंज सड़क को जाम कर दिया है। इससे आवागमन बाधित हो गया है। घटनास्थल पर कई जिलों की पुलिस कैंप कर रही है। तिरहुत के IG, DIG समेत कई वरीय पुलिस पदाधिकारी भी हाजीपुर में कैंप कर रहे है। किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के इंतजाम किेए गए हैं। मंदिर के मुद्दे पर सर्किट हाउस में आला अधिकारियों की बैठक चल रही है।
वार्ड पार्षद गिरफ्तार
इस बीच पुलिस ने मंदिर तोड़ने के विरोध में आंदोलन कर रहे वार्ड पार्षद सुभाष निराला को गिरफ्तार कर लिया है
Sources (Crime nzar)

TOPPOPULARRECENT