Tuesday , December 19 2017

मईशत(जिवनधार) में बेहतरी के लिए सख़्त फ़ैसले बहुत जरुरी : मनमोहन सिंह

* हमें बहुत सारी मुशकीलों का सामना है : सोनीया गांधी, यू पी ए के 8 साल पुरा होने पर रिपोर्ट कार्ड जारी

* हमें बहुत सारी मुशकीलों का सामना है : सोनीया गांधी, यू पी ए के 8 साल पुरा होने पर रिपोर्ट कार्ड जारी
नई दिल्ली । आठवे साल के पुरा होने का जश्न मनाते हुए यू पी ए हुकूमत ने आज उन विचारों को ग़लत क़रार दिया कि पोलिसी अपंग‌ हो गई है और कहा कि हिंदूस्तान दुनिया की दूसरी तेज़ रफ़्तार तरीन मईशत है जबकि वज़ीर-ए‍आज़म(प्रधान मंत्री) मनमोहन सिंह ने एतराफ़ किया कि ग़ैर यक़ीनी हालात पाए जाते हैं।

करप्शन के बारे में लोगों के दरमयान राय ग़ैर यक़ीनी है। उन्हों ने कहा कि हुकूमत संजीदगी से कोशिश कर रही है कि क़ानूनबनाने और इंतेज़ामी इक़दामात के ज़रीये इस को खत्म‌ किया जा सके। उन्हों ने मुख़्तलिफ़ शोबों जिनमें जिवनधार, खेतीबाडी, शिख्शा, ग़ुर्बत का ख़ातमा, हिफ़्ज़ान‍ ए‍ सीहत, बिजली तवानाई की पैदावार, अंदरुनी सलामती और बाहीरी पोलिसी में हुकूमत के इक़दामात और कारनामों को वाजेह‌ किया।

जिवनधार का जिक्र करते हुए प्रधान मंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि मुश्किल फ़ैसले ख़र्च और मालिया को मुतहर्रिक करने और सरमाया कारी में बढोतरी केलिए करने होंगे। इस मौके पर यू पी ए हुकूमत की कारकर्दगी को शामिल‌ रिपोर्ट कार्ड जारी की गई और एक डिनर पार्टी भि कि गइ।

दिलचस्प बात ये थी कि तमाम का मर्कज़ निगाह समाजवादी पार्टी के प्रमुख‌ मुलाइम सिंह यादव और आर जे डी के प्रमुख‌ लालू प्रसाद बने हुए थे। दोनों यूपी ए को बाहिरी ताईद कररहे हैं। शेह‌ नशीन पर वो सीनीयर वुज़रा और यू पी ए क़ाइदीन के साथ मौजूद थे, जो काबीना की नुमाइंदगी करते थे।

इस मौके पर तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख‌ और चीफ़ मिनिस्टर मग़रिबी बंगाल ममता बनर्जी और डी एम के पार्टी के लिडर एम करूणानिधि की ग़ैरमौजूदगी महसूस की गई। सोनीया गांधी ने कहा कि पिछ्ले एक साल से हमें कई मुश्किलों का सामना है। कई तूफ़ानों का पार्लीमेंट में और इस के बाहर सामना किया जा चुका है और हमेशा ये साबित किया गया है कि हमारा इरादा मज्बुत‌ है और मक़ासिद सब के एक‌ हैं। हम हमारी हुकूमत की तर्जीहात पर अटल रहे हैं और पूरी तरह वाक़िफ़ हैं कि मुल‌क के लोग‌ हुकूमत से क्या उम्मिदें रखते हैं।

TOPPOPULARRECENT