Thursday , May 24 2018

मकसद सिर्फ राम मंदिर की तामीर नहीं: विहिप

विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) नेता अशोक सिंघल ने कहा है कि भाजपा को इक्तेदार में लाने का मकसद सिर्फ राम मंदिर कि तामीर नहीं थी। सिंघल ने सनअतकार बीके मोदी की तरफ से यहां मुनाकिद एक प्रोग्राम में कहा कि हमारा एक ही टार्गेट था कि हम एक भ

विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) नेता अशोक सिंघल ने कहा है कि भाजपा को इक्तेदार में लाने का मकसद सिर्फ राम मंदिर कि तामीर नहीं थी। सिंघल ने सनअतकार बीके मोदी की तरफ से यहां मुनाकिद एक प्रोग्राम में कहा कि हमारा एक ही टार्गेट था कि हम एक भारी अक्सरियत के साथ पार्लियामेंट में आएं।

सिर्फ राममंदिर की तामीर हमारा टार्गेट नहीं था। हम चाहते थे कि हम इतने अक्सरियत से पार्लियामेंट में आएं कि उसके बाद राम मंदिर भी बन जाए और कोई भी मंदिर को गिराने की हिम्मत ना करे।

विहिप नेता ने दावा किया कि अक्लियती वोट बैंक की अहमियत खत्म हो गयी है और मुसलमानों को यह तय करना चाहिए कि उनका इस्तेमाल वोट बैंक की तरह ना हो। उन्होंने कहा, जब मुल्क में इतना बडा सियासी वाकियात हुआ है तो मुसलमानों को यकीन के साथ तय करना चाहिए कि उनका वोट बैंक की तरह इस्तेमाल ना हो और उन्हें ऐसा होने भी नहीं देना चाहिए।

जैसे पूरा मआशरा (समाज) मुल्क की बेहतरी के लिए साथ आ गया है, उन्हें भी इसमें शामिल होना चाहिए और मुल्क की खुशहाली के लिए काम करना चाहिए।” सिंघल ने कहा कि अब तक इंतेखाबात में वोट बैंक की सियासत होती थी और वह भी सेक्युलर की आड में, जिसका पर्दाफाश हो गया है।

TOPPOPULARRECENT