मक़बूल बट की बरसी पर कश्मीर में हड़ताल और प्रतिबंध

मक़बूल बट की बरसी पर कश्मीर में हड़ताल और प्रतिबंध
Click for full image

श्रीनगर: कश्मीर घाटी में शनिवार को जम्मू-कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (जेकेएलएफ) के संस्थापक मोहम्मद मक़बूल बट की 33 वीं वर्षगांठ के अवसर पर अलगाववादी नेतृत्व की अपील पर हड़ताल के कारण जनजीवन पंगु रहे। कश्मीर प्रशासन ने इस मौके पर किसी भी तरह के विरोध प्रदर्शनों को रोकने के लिए राजधानी श्रीनगर के पाईन शहर और सियोल लाइनों के कुछ क्षेत्रों में कर्फ्यू जैसी प्रतिबंध लागू कर दी थीं।

जेकेएलएफ के संस्थापक मोहम्मद मक़बूल बट को 1984 में आज ही के दिन दिल्ली की तिहाड़ जेल में फांसी दी गई थी और वहीं दफनाया गया था। उनकी बरसी के मौके पर घाटी में हर साल अलगाववादी दलों की अपील पर हड़ताल जाती है और तिहाड़ जेल में एम्बेडेड उनके अवशेष को लौटाने की मांग के पक्ष में विरोध किया है। अलगाववादी नेतृत्व सैयद अली गिलानी, मीरवाइज़ मौलवी उमर फारूक और मोहम्मद यासीन मलिक की याचिका पर गरमाई राजधानी श्रीनगर और उसके उपनगरों के अलावा घाटी के अन्य नौ जिलों में दुकानें और व्यापारिक केंद्र बंद रहे।

Top Stories