मक्का मस्जिद बम धमाका की पांचवीं बरसी शांती पुर्वक‌ गुज़र गई

मक्का मस्जिद बम धमाका की पांचवीं बरसी शांती पुर्वक‌  गुज़र गई
हैदराबाद / मक्का मस्जिद बम धमाका की पांचवीं बरसी आज शांती से गुज़र गई । शुक्रवार की नमाज कि वजह से पुलीस ने सेक्युरीटी के कडे इंतेज़ामात किए थे ।

हैदराबाद / मक्का मस्जिद बम धमाका की पांचवीं बरसी आज शांती से गुज़र गई । शुक्रवार की नमाज कि वजह से पुलीस ने सेक्युरीटी के कडे इंतेज़ामात किए थे ।

17 वीं सदी की तारीख़ी मक्का मस्जिद में शुक्रवार की नमाज़ की अदाय‌गी के इलावा शहर कि दुसरी मस्जीदों में भी शुक्रवार कि नमाज़ शांतीशालि तरीके पर‌ अदा की गई ।

मक्का मस्जिद और दुसरी इबादतगाहों के चारोंतरफ सेक्युरीटी के कडे इंतेज़ामात किए गए थे । धार्मिक भेदभाव में हस्सास समझे जाने वाले पुराने शहर में पैरामल्टी रियापड एक्शन फ़ोर्स , सिटी आर्मड‌ रिज़र्व और आंधरा प्रदेश स्पैशल पुलीस फ़ोर्स को तैनात किया गया था ।

एक पुलीस ओहदेदार ने कहा कि शहर में किसी मुक़ाम से किसी नाख़ुशगवार वाक़िया की खबर‌ नहीं मिली है । मोबाईल टीमों को हस्सास इलाक़ों में पैट्रोलिंग पर लगा दिया गया था । लेकिन‌ इस मर्तबा पुलीस की खास‌ पिक़्टस की तादाद घटा दि गई । क्योंकि पिछलि बार‌ इस तरह पिक़्टस पर हमले किए गए थे ।

मुश्तबा दहश्तगर्द वीक़ार अहमद ने मक्का मस्जिद बम धमाका की बरसी के मौके पर तैनात पुलीस पिक़्टस पर हमले किए थे । अगरचे कि उसे 2010 में गिरफ़्तार किया गया था । पिछले साल की बरसी भी शांतीशाली गुज़र गई ।

2009 और 2010 के दौरान वीक़ार ने बम धमाकों और पुलीस फायरिंग में हलाक मुस्लिम नौजवानों का बदला लेने के लिए पुलीस मुलाज़मीन पर हमले किए थे ।

मक्का मस्जिद में आज शुक्रवार कि नमाज़ के मौके पर सिटी पुलीस कमिशनर मिस्टर अनुराग शर्मा ने डिप्टी कमिशनर पुलीस साउथ ज़ोन अकोन अग्रवाल के साथ सेक्युरीटी इंतेज़ामात की निगरानी की ।

Top Stories