Sunday , September 23 2018

मक्का मुअज़्ज़मा में भी ताजमहल की तरह कुराआनी आयते

आगरा, 7 मई: ताजमहल की तरह मुकद्दस कुरआन की आयतें मक्का के हरम शरीफ में दिखाई देंगी। मार्बल पर ताज की तरह उकेरी गईं इन आयतों के पैनल आगरा में ही तैयार कराए जा रहे हैं।

आगरा, 7 मई: ताजमहल की तरह मुकद्दस कुरआन की आयतें मक्का के हरम शरीफ में दिखाई देंगी। मार्बल पर ताज की तरह उकेरी गईं इन आयतों के पैनल आगरा में ही तैयार कराए जा रहे हैं।

सऊदी अरब की हुकूमत ने आगरा के क्राफ्ट के उस्ताद इकबाल अहमद को हरम शरीफ में लगाने के लिए 160 पैनलों को तैयार करने की जिम्मेदारी दी है।

ताजनगरी में अब तक 24 पैनल तैयार कर जयपुर में सोने की कोटिंग के बाद सऊदी अरब भेजे जा चुके हैं।

इन्हें हज शुरू होने से पहले ही लगा दिया जाएगा। बाकी का काम करने के लिए 50 पच्चेकारों की टीम दिन-रात लगी हुई है।

आस्ट्रेलियन सफेद मार्बल के पैनल पर अफगानिस्तान के नीले लैपिसलैजूरी (लाजवर्त) पत्थर से कुरआन के हरुफ बनाए जा रहे हैं।

पैनल पर सूर-ए-मुल्क, सूर-ए-नाजियत और आयतल कुरसी लिखी जा रही है। इनमें 5 मिमी का उभार देकर आयतों को लिखा जा रहा है, जिसके ऊपर जयपुर में सोने की कोटिंग की जाएगी।

अरबी के खाके (कागज पर लिखी आयतें) तुर्की से आई हैं। इन्हीं को पत्थरों पर उकेरा जा रहा है। अरबी ज़ुबान में लिखी जा रही आयतों में कोई गलती न हो जाए, इसलिए मुफ्ती मो. आसिफ काजमी हर दिन पैनलों की जांच कर रहे हैं।

क्राफ्ट के उस्ताद व कौमी एवार्ड याफ्ता हाजी इकबाल अहमद का कहना है कि ”अल्लाह के घर में मेरी फन (आर्ट्स) पहुंचे, इससे ज्यादा फखर की बात नहीं हो सकती। यह आगरा और मुल्क के लिए फखर की बात है। जल्द से जल्द काम पूरा करने की कोशिश है”

———बशुक्रिया: अमर उजाला

TOPPOPULARRECENT