Wednesday , January 17 2018

मजलिस का फैसला सयासी मफ़ादात पर मबनी

मजलिस के हालिया फैसला जिस में कांग्रेस की ताईद से अलग होने का ऐलान किया है मज़कूरा फैसले पर तानडोर कांग्रेस के इकलेती क़ाइदीन ने अपने रद्द-ए-अमल का इज़हार करते हुए कहा के मजलिस का फैसला सयासी मफ़ादात पर मबनी है और मंसूबा बंद है ताहम इस

मजलिस के हालिया फैसला जिस में कांग्रेस की ताईद से अलग होने का ऐलान किया है मज़कूरा फैसले पर तानडोर कांग्रेस के इकलेती क़ाइदीन ने अपने रद्द-ए-अमल का इज़हार करते हुए कहा के मजलिस का फैसला सयासी मफ़ादात पर मबनी है और मंसूबा बंद है ताहम इस फैसले से कांग्रेस हुकूमत को कोई ख़तरा लाहक़ नहीं होगा ।

हैदराबाद के हालिया वाक़ियात पर अफ़सोस का इज़हार करते हुए मुहम्मद मुख़तार नाज़ , साबिर हुसैन ने कहा कि कांग्रेस ने मुस्लमानों की तरक़्क़ी के लिए तारीख साज़ कारनामे अंजाम देते हैं ।

मज़कूरा क़ाइदीन ने मजलिस की क़ियादत से सवाल किया के बाबरी मस्जिद की शहादत और बेक़सूर मुस्लिम नौजवानों की गिरफ़्तारी के वक़्त ये फैसला क्यों नहीं लिया गया ।

कांग्रेस क़ाइदीन के मुताबिक़ मजलिस की कांग्रेस से 20 साला दोस्ती के दौर में फ़िर्कावाराना नवीत के बेशुमार वाक़ियात ज़ाहिर हुवे जिन में मुस्लमानों की करोड़ों की इमलाक तबाह की , सैकड़ों बेक़सूर मुस्लिम नौजवानों को गिरफ़्तार किया गया ।

तब कांग्रेस बुरी नहीं थी । क़ाइदीन ने कहा के मजलिस के फैसले से कांग्रेस को नुक़्सान तो नहीं होगा अलबत्ता फिरका परस्त ताक़तों को बढ़ावा मिलने का इमकान है

TOPPOPULARRECENT