Monday , December 18 2017

मजलिस बलदिया हैदराबाद को 172 वार्डज़ में तक़सीम करने की तजवीज़

मजलिस बलदिया अज़ीम तर हैदराबाद को आइन्दा बलदिया चुनाव से पहले 172 वार्डज़ में तक़सीम किया जा सकता है। ज़राए के बमूजब मजलिस बलदिया अज़ीम तर हैदराबाद को ही 2011 की मर्दुमशुमारी के एतेबार से बलदी हलक़ाजात की अज़ सरे नु हदबंदी की ज़िम्मेदारी सौ

मजलिस बलदिया अज़ीम तर हैदराबाद को आइन्दा बलदिया चुनाव से पहले 172 वार्डज़ में तक़सीम किया जा सकता है। ज़राए के बमूजब मजलिस बलदिया अज़ीम तर हैदराबाद को ही 2011 की मर्दुमशुमारी के एतेबार से बलदी हलक़ाजात की अज़ सरे नु हदबंदी की ज़िम्मेदारी सौंपी गई है।

बलदिया ने इस सिलसिले में एक मकतूब रियासती हुकूमत को रवाना किया है जिस में तजवीज़ किया गया हैके मजलिस बलदिया अज़ीम तर हैदराबगाद के इलाके को 172 वार्डज़ में तक़सीम किया जाये। इमकान हैके बलदिया हैदराबाद की तरफ से हलक़ाजात की अज़ सरे नु हदबंदी का काम रियासती हुकूमत से ज़रूरी इजाज़त मिलने के बाद शुरू किया जाएगा।

हाइकोर्ट ने हुक्काम को हिदायत दी थी कि वो मर्दुमशुमारी 2011 के मुताबिक़ आइन्दा बलदिया चुनाव से पहले बलदी हलक़ाजात की अज़ सरे नु हदबंदी का काम करें। 2011 की मर्दुमशुमारी के मुताबिक़ मजलिस बलदिया अज़ीम तर हैदराबाद के इलाके में जुमला आबादी 67,31,790 है।

हाइकोर्ट के अहकाम पर अमल आवरी के लिए बलदिया हैदराबाद के इलाके में बलदी वार्डज़ की अज़ सरेनु हदबंदी का काम मुंख़बा अरकान की तादाद के मुताबिक़ किया जाना चाहीए।

ज़राए का कहना हैके मजलिस बलदिया हैदराबाद ने अपने हुदूद में बलदी वार्डज़ की तादाद को बढ़ाकर 172 करने की तजवीज़ पेश की है और इस के मुताबिक़ हर बलदी हलक़ा में तक़रीबन 40,000 राय दहिंदे होंगे।

बलदिया हैदराबाद के मुंतख़ब कारपूरेटरस की मयाद जारीया साल 3 दिसंबर को ख़त्म होगई और रियासती हुकूमत ने छः माह की मुद्दत के लिए बलदिया के लिए स्पेशल ऑफीसर का तक़र्रुर अमल में लाया है। ज़राए का कहना हैके बलदिया के लिए हलक़ाजात की अज़ सरेनु हदबंदी का काम मुकम्मिल करने के लिए इन छः माह के बाद तीन माह का वक़्त दरकार होसकता है।

सनअतनगर हलक़ा असेंबली से तेलुगु देशम के टिकट पर 2014 के असेंबली चुनाव में टी श्रीनिवास यादव मुंतख़ब हुए थे। उन्होंने चंद दिन पहले तेलंगाना राष़्ट्रा समीती में शमूलीयत इख़तियार कर ली थी।

उन्हें तेलंगाना काबीना में पहली तौसीअ के मौके पर काबीना में शामिल किया गया है और श्रीनिवास यादव ने काबीना में शमूलीयत से पहले तेलुगु देशम पार्टी और फिर असेंबली की रुकनीयत से भी इस्तीफ़ा पेश कर दिया था।

एसे में सनअतनगर हलके में ज़िमनी चुनाव करवाना ज़रूरी होगया है। हुकूमत इस हलके के ज़िमनी चुनाव के इनइक़ाद के बाद भी बलदिया के चुनाव करवाने का फ़ैसला करसकती है।

TOPPOPULARRECENT