Saturday , July 21 2018

मजहब के नाम पर अख्लाक का हुआ क़त्ल, मोदी खामोश क्यों: औवेसी

दादरी: उत्तरप्रदेश के दादरी के पास बिसाहड़ा गांव में गाय का गोश्त घर में होने की अफवाह के बाद पीट-पीटकर कत्ल कर देने के मामले में सियासत गर्मा गई है। जुमे के रोज़ इस मामले में उत्तर प्रदेश के वज़ीर ए आला अखिलेश यादव ने भाजपा और पीएम नरेन्द्र मोदी पर जबकि ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन(एआईएमआईएम) के सदर असदुद्दीन औवेसी ने सपा और भाजपा पर हमला बोला।

औवेसी ने कहा कि, नफरत में अखलाक का कत्ल किया गया। इसके लिए साजिश रची गई और अफवाह फैलाकर अखलाक का क़त्ल किया गया । यह अफसोस वाली बात है कि यूपी की हुकूमत खामोश है। उन्होंने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहाकि, उन्होंने आशा भोंसले के बेटे के इंतकाल पर ट्वीट कर गम ज़ाहिर किया जबकि अखलाक के क़त्ल पर कुछ नहीं कहा।

हमें उम्मीद थी कि सबका साथ सबका विकास की बात करने वाले पीएम इस पर जरूर ट्वीट करेंगे।

उन्होंने मुल्ज़िमों को जल्द गिरफ्तार करने और तय मुद्दत में सजा देने की मांग की और कहाकि गोश्त की जांच के बजाय मुजरिमों के दिमाग की जांच की जानी चाहिए। देखना चाहिए कि उनके दिमाग में कितना ज़हर भरा हुआ है।

यह गोश्त पर नहीं मजहब के नाम पर क़त्ल है।
वहीं यूपी के सीएम अखिलेश यादव ने कहाकि दादरी कांड की वजह पिंक रेवॉल्यूशन(गुलाबी क्रांति/मांस क्रांति) है। उन्होंने कहाकि, अफवाहों में कुछ नहीं होता लेकिन इनकी वजह से बहुत कुछ हो जाता है।

कुछ लोग पिंक रेवॉल्यूशन की बात करते थे। पिंक रेवॉल्यूशन वाली हुकूमत अब इक्तेदार में है तो इस पर रोक क्यों नहीं लगाती। उत्तर प्रदेश के वज़ीर आजम खान ने भी गाय के गोश्त को लेकर कानून बनाने की मांग की। उन्होंने कहाकि इसकी वजह से काफी झगड़े हो रहे हैं।

TOPPOPULARRECENT