मदरसों में भगवा ड्रेस को लेकर योगी सरकार के मंत्री ने दिया बड़ा बयान !

मदरसों में भगवा ड्रेस को लेकर योगी सरकार के मंत्री ने दिया बड़ा बयान !

यूपी में योगी सरकार के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मोहसिन रजा का कहना है कि अगर मदरसों के मौलाना और छात्र भगवा वस्त्र धारण करने लगें तो उनकी जिंदगी में उजाला आ जाएगा. उन्होंने कहा कि भगवा योगी जी का बनाया रंग नहीं, बल्कि अल्लाह की देन है. अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मोहसिन रज ने NDTV से बताया की ‘खुदा की कसम मैं चाहता हूं कि मौलाना लोग जाएं और अच्छे-अच्छे, बड़े-बड़े अपने आलिमों से मिलें और उनसे पूछें कि भगवा जो है, वह प्रकाश का प्रतीक है. अगर वह भगवे में चले जाएं तो मुझे लगता है कि उनकी जिंदगी में उजाला आ जाएगा.’

यूपी सरकार ने मदरसों के लिए एडवाइजरी जारी की है कि वे 15 अगस्त को तिरंगा फहराएं, राष्ट्रगान गाएं और महापुरुषों के किस्से सुनाएं. नए सरकारी नियम में गैर उर्दू भाषी भी अब मदरसे में टीचर बन सकेंगे. कई मदरसे वालों को लगता है कि यह बीजेपी समर्थकों को मदरसों में टीचर बनाने की योजना का हिस्सा है. मंत्री से सवाल यह था कि आपके विरोधी कहते हैं कि सरकार मदरसों का भगवाकरण करना चाहती है. भगवा वस्त्र पर उनके जवाब इसी को लेकर था. मोहसिन रजा ने कहा कि, ‘ये तो कुदरत की देन है. अल्लाह की देन है भगवा. ये योगी जी की देन नहीं है. योगी जी ने इसको धारण किया है. ये ईश्वर की देन है. अल्लाह की देन है. तभी तो आज पूरे उत्तर प्रदेश में उजाला है योगी जी की वजह से.

मोहसिन रजा से जब पूछा गया कि क्या वह चाहते हैं कि मदरसों में भगवा ड्रेस कोड हो तो, उन्होंने कहा, ‘मुसलमान पहले से भगवा पहनते हैं. ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती को मानने वाले चिश्तिया सिलसिले के सूफी हमेश से भगवा पहनते हैं. जो चिश्तियां हैं उनसे पूछिये कि वह भगवा क्यों पहनते हैं? मोहसिन रजा सिर्फ भगवा के ही प्रशंसक नहीं. वह आरएसएस के भी बड़े फैन हैं. कहते हैं कि ‘राष्ट्र की निस्वार्थ सेवा करने वालों के संघ को ही राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ कहते हैं. वे अगर अच्छा काम कर रहे हैं तो ऐतराज किस बात का? इसके साथ-साथ मोहसिन रजा यह भी जोड़ते हैं कि ‘वे पर्सनल लॉ बोर्ड खोलकर थोड़े बैठे हैं. राष्ट्र के सेवक हैं.’

साभार- NDTV

Top Stories