Monday , December 18 2017

मधुमिता कत्ल केस: मधुमणि की सजा बरकरार

नई दिल्ली, 18 अप्रैल: उत्तर प्रदेश के मशहूर मधुमिता शुक्ला मर्डर केस में सुप्रीम कोर्ट ने जुमेरात को राज्य के साबिक वज़ीर अमरमणि त्रिपाठी की बीवी मधुमणि की दरखास्त खारिज कर दी हैं। मधुमणि ने उत्तराचंल हाई कोर्ट के हुक्म के खिलाफ सु

नई दिल्ली, 18 अप्रैल: उत्तर प्रदेश के मशहूर मधुमिता शुक्ला मर्डर केस में सुप्रीम कोर्ट ने जुमेरात को राज्य के साबिक वज़ीर अमरमणि त्रिपाठी की बीवी मधुमणि की दरखास्त खारिज कर दी हैं। मधुमणि ने उत्तराचंल हाई कोर्ट के हुक्म के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में दरखासत दाखिल की थी।

कोर्ट ने इस मामले में मधुमणि की उम्रकैद की सजा बरकरार रखी है। इससे पहले साबिक वज़ीर अमरमणि त्रिपाठी की दरखासत सुप्रीम कोर्ट ने पहले ही खारिज कर दी थी। सुप्रीम कोर्ट कि तरफ से आज सुनाये गए फैसले के बाद अब दोनो शौहर और बीवी को जेल में ही पूरी जिंदगी गुजारनी पड़ेगी। दोनों को मधुमिता शुक्ला के कत्ल हत्या में उम्रकैद की सजा सुनाई गई थी।

वाजेह है कि मधुमिता शुक्ला का कत्ल 9 मई 2003 को लखनऊ की पेपर मिल कॉलोनी में हुआ था। कत्ल के वक्त मधुमिता हामिला थी। मधुमिता के रिश्तेदारों के मुताबिक वह बच्चा वज़ीर अमरमणि त्रिपाठी का था। मायावती हुकूमत ने अमरमणि को कैबिनेट से बर्खास्त करके मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी थी।

मामले की सुनवाई देहरादून की खुसुसी सीबीआई अदालत में हुई। सीबीआई की खुसुसी अदालत ने अमरमणि और उनकी बीवी मधुमणि को उम्र कैद की सजा सुनाई।

TOPPOPULARRECENT