मध्य प्रदेश चुनाव: बीजेपी के 13 मंत्रीयों को जनता ने नकार दिया, खिलाफ़ में किया वोट!

मध्य प्रदेश चुनाव: बीजेपी के 13 मंत्रीयों को जनता ने नकार दिया, खिलाफ़ में किया वोट!

मध्यप्रदेश का चुनाव परिणाम ना सिर्फ भारतीय जनता पार्टी पर ही नहीं बल्कि पूर्ववर्ती सरकार के मंत्रियों पर भी भारी पड़ा है। इस चुनाव में 13 मंत्रियों को हार का सामना करना पड़ा है। लेकिन इस मामले में प्रदेश में सरकार बनाने जा रही कांग्रेस की स्थिति भी ज्यादा बेहतर नहीं है। पार्टी के भी चार बड़े नेताओं को हार का कड़वा घूंट पीना पड़ा है।

महिला एवं बाल विकास मंत्री अर्चना चिटनीस बुरहानपुर से मुकाबला हार गई हैं। यहां कांग्रेस से बागी होकर निर्दलीय चुनाव लड़े ठाकुर सुरेन्द्र सिंह नवल सिंह 5,120 मतों के अंतर से विजयी हुए हैं। भोपाल दक्षिण-पश्चिम विधानसभा सीट से प्रदेश के राजस्व मंत्री उमा शंकर गुप्ता चुनाव हार गये हैं। उन्हें कांग्रेस के पीसी शर्मा ने 6,587 मतों से पराजित किया।

छतरपुर जिले में मलहरा विधानसभा सीट से प्रदेश सरकार की मंत्री ललिता यादव 15,779 मतों से पराजित हो गई। प्रदेश सकार के मंत्री शरद जैन जबलपुर उत्तर से भाजपा से बागी हुए धीरज पटैरिया से 578 मतों से चुनाव हार गये। प्रदेश के वित्त मंत्री जयंत मलैया कांग्रेस के राहुल लोधी से 798 मतों से हार गये। बड़वानी जिले की सेंधवा विधानसभा क्षेत्र से मंत्री अंतर सिंह आर्य 15,878 मतों से पराजित हो गये।

प्रदेश सरकार के एक अन्य मंत्री जयभान सिंह पवैया ग्वालियर सीट से 21,044 मतों से चुनाव हार गये। वहीं भिण्ड जिले की गोहद विधानसभा सीट से प्रदेश के मंत्री लालसिंह आर्य को 23,989 मतों से हार का सामना करना पड़ा। मुरैना विधानसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार और प्रदेश सरकार के मंत्री रुस्तम सिंह 20,849 मतों से पराजित हो गये।

प्रदेश के स्कूली शिक्षा मंत्री दीपक जोशी देवास जिले की हालपिपल्या सीट से 13,519 मतों से चुनाव हार गये। ग्वालियर दक्षिण सीट से प्रदेश के मंत्री नारायण सिंह कुशवाह कांग्रेस के प्रवीण पाठक से मात्र 121 मतों से चुनाव हार गये। शाहपुरा विधानसभा सीट से मंत्री ओमप्रकाश धुर्वे 35,960 मतों से चुनाव हार गये वहीं खरगोन विधानभा सीट से प्रदेश सरकार के मंत्री बालकृष्ण पाटीदार 9,512 मतों से चुनाव हार गये।

प्रदेश विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के चार बड़े नेताओं को भी हार का सामना करना पड़ा। प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष और कांग्रेस के दिग्गज नेता रहे पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुनसिंह के पुत्र अजय सिंह अपनी परम्परागत सीट चुरहट से 6,402 मतों से हार गये।

वहीं विधानसभा के उपाध्यक्ष और अमरपाटन विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस उम्मीदवार राजेन्द्र सिंह 3,747 मतों से पराजित हुए। कांग्रेस के प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष रामनिवास रावत श्योपुर जिले की विजयपुर विधानसभा सीट से 2,840 मतों से हार गये।

कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष एवं पूर्व केन्द्रीय मंत्री अरुण यादव बुधनी सीट से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से 58,999 मतों से पराजित हुए हैं।

साभार- ‘इंडिया टीवी न्यूज़ डॉट कॉम’

Top Stories