मध्य प्रदेश- झूठी अफवाह के बाद मोब लिंचिंग, भीड़ को उकसाने पर BJP नेता हिरासत में

मध्य प्रदेश- झूठी अफवाह के बाद मोब लिंचिंग, भीड़ को उकसाने पर BJP नेता हिरासत में

मध्य प्रदेश के धार जिले की मनावर तहसील के एक गांव में लोगों ने मॉब लिंचिंग की घटना हुई। इसमें ग्रामीणों ने एक किसान को लाठी और पत्थर से पीट-पीटकर मार डाला, जबकि पांच किसानों को अधमरा कर दिया।  जनसम्पर्क मंत्री पी सी शर्मा ने बताया कि घटना की जांच के लिए विशेष दल गठित कर दिया गया है और तीन पुलिस कर्मचारियों को सस्पेंड कर दिया गया है।  तीन आरोपी गिरफ़्तार किये गए हैं।

छह व्यक्तियों पर सौ से ज्यादा लोगों द्वारा 7 युवकों को पीटे जाने के मामले में पुलिस ने बीजेपी (BJP) नेता और सरपंच रमेश जूनापानी को हिरासत में लिया है।

बता दें कि कुछ लोगों ने लेनदेन के विवाद के चलते 7 युवकों को गांव में हिसाब चुकता करने बुलाया और गांव में अफवाह फैला दी के बच्चा चोर आए हैं। भीड़ ने सभी युवकों पर हमला कर दिया और बेरहमी से पीटा। खून से लथपथ युवक तड़पते और चीखते रहे, लेकिन आरोपी उनके सिर और शरीर पर बुरी तरह से लाठी-डंडे बरसाते रहे। भीड़ ने युवकों के सिर पर पत्थर दे मारे। जिसमे एक शख्स की मौत हो गई और 5 गंभीर रूप से घायल हो गए।

बाकी की शिनाख्त की जा रही है। वीडियो रिकार्डिग और पुलिस को सूचना के बाद भी करवाई में देरी को लेकर सरकार पर सवाल उठ रहे हैं।  पीसी शर्मा ने कहा कि मॉब लिंचिंग की घटना को रोकने के के कदम पर विचार किया जा रहा है।

मनावर तहसील के ग्राम खडकिया थाना तिरला, के बोरलाई गांव में बच्चा चोरी की शंका पर वहां के आदिवासी वनांचल के ग्रामीणों द्वारा उज्जैन जिले के लिम्बी, पीपल्या के किसानों के साथ मारपीट की , जिसमे पांच गंभीर घायलों को बड़वानी से इंदौर रेफर किया, वही एक किसान क़ी घटना स्थल पर ही मौत हो गई।

खेतों पर काम करने नहीं आए मजदूर

उज्जैन के कुछ किसानों ने ग्राम खडकिया के मजदूरों को अपने खेत में  काम करने के बदले पैसे दिये थे, लेकिन वह खेतों  पर काम न कर अपने घर लौट आये थे, वही पैसे वापस लेने के लिए किसानों ने कई बार मजदूरों को संदेश भेजा।  लेकिन ग्रामीणों ने ना ही किसानों के पैसे लौटाये ओर ना ही काम करने उनके खेतो पर गए।

जब किसान हताश होकर उज्जैन जिले से धार जिले के मनावर के निवासी इन मजदूरों के यहां पहुंचे तो गांव के लोगों द्वारा बच्चा चोर की शंका के चलते उन किसानों पर प्राण घातक हमला कर दिया गया जिससे उनके दो, चार पहिया वाहनों में सवार छह व्यक्तियों के साथ  मारपीट की गयी तथा वाहनों के भी पत्थरो से कांच फोड दिये। वही लाठी – पत्थरों  से उन किसानों के ऊपर दरिंदो की तरह एक साथ टूट पड़े व घटना को अंजाम दिया।   मारपीट से गंभीर घायल गणेश पिता मनोज पटेल उम्र 40 वर्ष निवासी शिवपूर खेडी की जिला बड़वानी में इलाज  के दौरान मौत हो गई तथा मनावर स्वास्थ केन्द्र पर जगदीश पिता राधेश्याम शर्मा उम्र 45 निवासी लिम्बा पिपल्या, नरेन्द्र पिता सुन्दरलाल शर्मा उम्र 45 निवासी लिम्बा पिपलीया, रवि पिता शंकरलाल पटेल उम्र 38 विनोद पिता तुलसीराम मुकाती उम्र 45 जगदीश पूनमचंद्र शर्मा उम्र 40 सभी घायलों को सिर में भारी चोट होने के कारण उपचार के लिये निजी  अस्पताल इन्दौर ले गये।

बच्ची चोरी की फैली झूठी अफवाह

बच्चा चोरी की झूठी अफवाह की खबर आसपास के ग्रामो में फेलने से इन घायलों को ग्रामीणों  द्वारा रोक लिया गया व मारपीट की गई।  मनावर टीआई अपने बल के साथ घटनास्थल पर पहुचे जब तक काफी देर हो चुकी थी।   एक तरफ किसान  घायल  होकर लाठी पत्थरो से मार खा रहे थे तो दूसरी तरफ अफवाह पर ग्रामवासी बच्चा चोर समझ के हर वो कृत्य कर रहे थे।   घायलों ने बताया कि उन्हें गांव के लोगों ने जिंदा जलाने का भी प्रयास किया व बताया कि हम सभी किसान अपने खेतों में काम करवाने के लिये इन गांवों से मजदूर ले गये थे। मजदूरों को काम के बदले नगद एडवांस पेसा भी दे रखा था ये मजदूर काम न करते हुऐ पेसे लेकर भाग आये थे। जिसकी सूचना हमने उज्जैन और धार जिले के तिरला थाने पर भी कर रखी थी लेकिन कोई सुनने वाला नही था।

Top Stories