Sunday , November 19 2017
Home / India / मध्य प्रदेश में पंचायत के फैसले से बुजुर्ग किसान ने जान गंवाई

मध्य प्रदेश में पंचायत के फैसले से बुजुर्ग किसान ने जान गंवाई

भोपाल : पंचायत के एक फैसले की वजह से एक बुजूर्ग की मौत हो गयी | पंचायत ने  70 साल के किसान को बछड़े के मरने पर तीन घंटे तक एक टांग पर पर खड़े रहने का आदेश दिया था |

घटना बुंदेलखंड क्षेत्र के बड़ा मलहेरा गांव की है और मृतक का नाम हर सिंह लोधी है| हर सिंह लोधी तीन घंटे की सजा के बाद बेहोश हो गए|  उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया| मौत की वजह का पता नहीं चल पाया है| द टेलीग्राफ की रिपोर्ट के मुताबिक़ हर सिंह लोधी के खेत में एक बछड़ा मरा हुआ पड़ा मिला था| उसके पास चूहे मारने की दवा की बोतल थी | पंचायत ने पाप का पश्चाताप करने के लिए लोधी को बुलाया था | उन्हें शुद्धिकरण की कई रस्मों के साथ ही एक टांग पर खड़े रहने का आदेश दिया गया |

लोधी के बेटे ने टेलीग्राफ को बताया कि उन्हें सिर मुण्डाने के साथ इलाहाबाद जाकर संगम में डुबकी भी लगानी पड़ी | इसके अलावा उन्होंने 500 रुपये के जुर्माने के साथ दो समाजों को खाना खिलाना पड़ा| उन्होंने आरोप लगाया कि करण लोधी, गोंदी लोधी और मर्दन ने सज़ा के लिए दबाव डाला था | उन्होंने बताया कि मेरे पिता बछड़े के मरने के बाद खुद को दोषी महसूस कर रहे थे इसलिए वह सज़ा पाना चाहते थे | लेकिन तीन घंटे तक सज़ा बर्दाश्त नहीं कर पाने की वजह से वे बेहोश हो गये |
इस मामले की  पुलिस में रिपोर्ट दर्ज होने के बाद अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है |  पुलिस का कहना है कि ऑटोप्सी  रिपोर्ट आने के बाद कार्रवाई की जाएगी |  उन्होंने कहा कि दरियाब के बयान के आधार पर केस दर्ज किया गया है |

 

TOPPOPULARRECENT