Monday , January 22 2018

मनाली में हैदराबाद के 24 तलबा नदी में बह गए

हिमाचल प्रदेश मनाली में पेश आए एक दिलख़राश वाक़िये में हैदराबाद के एक इंजनीयरिंग कॉलिज के 24 तलबा नदी में बह गए। निज़ामपेट बाचुपल्ली के वी एन आर विज्ञान ज्योति इंस्टीटियूट आफ़ इंजनीयरिंग ऐंड टेक्नालोजी के तक़रीबन 48 तलबा 3 कॉलिज के ज़िम

हिमाचल प्रदेश मनाली में पेश आए एक दिलख़राश वाक़िये में हैदराबाद के एक इंजनीयरिंग कॉलिज के 24 तलबा नदी में बह गए। निज़ामपेट बाचुपल्ली के वी एन आर विज्ञान ज्योति इंस्टीटियूट आफ़ इंजनीयरिंग ऐंड टेक्नालोजी के तक़रीबन 48 तलबा 3 कॉलिज के ज़िम्मेदारान के हमराह गरमाई तातीलात मनाने शुमाली हिंद के मुख़्तलिफ़ मुक़ामात पर गए थे। तलबा विज्ञान इंजनीयरिंग कॉलिज के शोबा इलेक्ट्रॉनिक्स ऐंड इन्स्ट्रूमेन्टेशन इंजनीयरिंग से वाबस्ता थे।

मनाली कराट हाई वे पर वाक़े बीस नदी के किनारे पर तस्वीरकशी कररहे थे कि अचानक 126 मैगावाट के लारजी हाईड्रो पावर प्राजेक्ट ज़ख़ीरा ए आब से पानी के इख़राज के लिए नदी के दरवाज़े खोल दिए गए, जिस में 24 तलबा पानी की ज़द में आकर बह गए। बावसूक़ ज़राए ने बताया कि तस्वीरकशी में मसरूफ़ तलबा को अचानक तेज़ रफ़्तार से आने वाले नदी के पानी के बहाव का अंदाज़ा ना था और वो इस हादसे का शिकार होगए।

शिमला के ज़िला इंतिज़ामिया के बमूजब हादिसे का शिकार होने वाले तलबा में 18 लड़के और 6 लड़कीयां शामिल हैं। इस हादसे के बाद हिमाचल प्रदेश की सरकारी मिशनरी हरकत में आगई और पानी में ग़र्क़ाब होने वाले तलबा-ए-को बाहर निकालने के लिए ख़ुसूसी तैराकों की टीमें मसरूफ़ करदी गईं। लेकिन सरकारी ज़राए ने बताया कि पानी में बह जाने वाले तलबा बाहयात होने की उम्मीद नहीं है। इंजनीयरिंग कॉलिज के लेक्चरर-ओ-टूर मैनेजर किरण भी इस हादिसे में ग़र्क़ाब होने की इत्तिला है। नदी के पानी में बह जाने वाले तलबा की शनाख़्त श्रीनिधि, रदीमा, ऐश्वर्या, वशिष्टा, गायत्री, विजेता, रतवी , राम बाबू उपेंदर, शिवा, विष्णु, संदीप, बोस, अखील, परमेश, आशीष, अरविंद की हैसियत से करली गई।

हादसे के फ़ौरी बाद हाईडल पावर के ओहदेदारों की लापरवाही के ख़िलाफ़ क़ौमी शाहराह पर ट्रैफ़िक में ख़लल पैदा करते हुए रास्ता रोको एहतिजाज किया गया। ऐनी शाहिदीन ने बताया कि जो तलबा नदी के किनारे तस्वीरकशी के लिए नहीं गए थे उन पर अपने साथी तलबा की अचानक मौत वाक़े होने पर सकता तारी होगया और उन्हें क़रीब की एक मंदिर में मुंतक़िल किया गया। रात देर गए तक किसी भी तालिब इलम की नाश को बाहर निकालने की इत्तिला मौसूल नहीं हुई। हिमाचल प्रदेश हुकूमत ने मुतास्सिरा तलबा के अफ़राद ख़ानदान के लिए एक ख़ुसूसी हेल्प् लाईन खोली है जिस का नंबर 01902224455 है।

हादसे की इत्तिला तमाम क़ौमी-ओ-मुक़ामी चैनल्स पर मुसलसल दिखाये जाने के बाइस तलबा के वालिदैन तशवीश का शिकार होगए और अपने लड़के लड़कियों को बाहयात होने की तसदीक़ के लिए बेचैन थे।

वज़ीर इन्फ़ार्मेशन टेक्नालोजी के तारिक़ रामा राव ने बताया कि हुकूमत ग़र्क़ाब तलबा के वालिदैन के लिए हवाई जहाज़ के टिक्टस फ़राहम कर रही है और हिमाचल प्रदेश से नाशों को हैदराबाद मुंतक़िल करने के लिए ख़ुसूसी तय्यारे का भी इंतिज़ाम किया जा रहा है। कमिशनर पुलिस साइबर आबाद सी वे आनंद ने बताया कि वे एन आर विज्ञान ज्योति इंजनीयरिंग कॉलिज पेटबशीर आबाद इलाक़ा में मौजूद है और ग़र्क़ाब तलबा की नाशों को हैदराबाद मुंतक़ली के लिए अस्सिटेंट कमिशनर आफ़ पुलिस पेटबशीरा बाद एन श्रीनवास राव को भी हिमाचल प्रदेश रवाना किया जा चुका है। चीफ़ मिनिस्टर तेलंगाना के चन्द्र शेखर राव ने इंजनीयरिंग तलबा हिमाचल प्रदेश में हादसे का शिकार होने पर गहरे रंज-ओ-ग़म का इज़हार किया और बताया कि हुकूमत मुतास्सिरा अफ़राद ख़ानदान को हरमुमकिन मदद करेगी।

TOPPOPULARRECENT