Monday , December 18 2017

ममता अमन के पैग़ाम के साथ दार्जिलिंग वापिस

गोरखालैंड एहतेजाज की तवील मुद्दती शोरिश के बाद जब दार्जिलिंग पुरसुकून हुआ तो चीफ मिनिस्टर मग़रिबी बंगाल ममता बनर्जी ने इस इलाक़े की तेज़ रफ़्तार तरक़्क़ी के लिए अमन की अवाम से जज़बाती अपील की।

गोरखालैंड एहतेजाज की तवील मुद्दती शोरिश के बाद जब दार्जिलिंग पुरसुकून हुआ तो चीफ मिनिस्टर मग़रिबी बंगाल ममता बनर्जी ने इस इलाक़े की तेज़ रफ़्तार तरक़्क़ी के लिए अमन की अवाम से जज़बाती अपील की।

वो लेप्चा डेवलपमेंट बोर्ड के ज़ेरे एहतिमाम एक प्रोग्राम से ख़िताब कर रही थीं, उन्होंने कहा कि सय्याहों को दार्जिलिंग की सयाहत पर राग़िब करने के लिए अमन और तआवुन इंतिहाई ज़रूरी है। अंदरून और बैरून मुल्क स्याह इस इलाक़े की मईशत के लिए इंतेहाई अहम है।

उन्होंने कहा कि अगर सय्याहों की तादाद में इज़ाफ़ा होगा तो तरक़्क़ियाती अमल में भी इज़ाफ़ा होगा। उन्होंने कहा कि हुकूमत ने बर्क़ी तवानाई की पैदावार के लिए 103 करोड़ और क़ौमी शाहराहों की तरक़्क़ी के लिए 29 करोड़ रुपये मुख़तस किए हैं।300 मेगावाट आयडल पावर प्रोजेक्ट्स‌ भी दार्जिलिंग हिल्ज़ में क़ायम किया जाएगा।

TOPPOPULARRECENT