Sunday , January 21 2018

मर्कज़ी टीम गांधी हॉस्पिटल में सफ़ाई के नाक़िस इंतेज़ामात पर हैरान

रियासत तेलंगाना में स्वाइन फ्लू के बढ़ते वाक़ियात की वजह से पैदा शूदा सूरत-ए-हाल के पेशे नज़र मर्कज़ी मेडिकल टीम यहां पहुंची और इस ने रियासत के सब से बड़े गांधी हॉस्पिटल में सफ़ाई के नाक़िस इंतेज़ामात पर तशवीश का इज़हार किया।

रियासत तेलंगाना में स्वाइन फ्लू के बढ़ते वाक़ियात की वजह से पैदा शूदा सूरत-ए-हाल के पेशे नज़र मर्कज़ी मेडिकल टीम यहां पहुंची और इस ने रियासत के सब से बड़े गांधी हॉस्पिटल में सफ़ाई के नाक़िस इंतेज़ामात पर तशवीश का इज़हार किया।

स्वाइन फ्लू के ज़्यादा तर मरीज़ों का ईलाज इसी हॉस्पिटल में किया जा रहा है। नेशनल हेल्थ सर्विसेस के डायरेक्टर डॉ अशोक कुमार खरे की ज़ेर क़ियादत सहि रुकनी मर्कज़ी टीम हैदराबाद पहुंची।

चीफ़ मिनिस्टर के चन्द्र शेखर राव ने कल वज़ीर-ए-आज़म नरेंद्र मोदी से रब्त क़ायम करते हुए मदद की ख़ाहिश की थी क्युंकि तेलंगाना में H1N1वाइरस ने अब तक 19 अफ़राद की जान ले ली। वज़ीर-ए-आज़म की हिदायत पर मर्कज़ी टीम हैदराबाद पहुंचते ही सीधे गांधी हॉस्पिटल गई जहां स्वाइन फ्लू केसिस के ईलाज के लिए ख़ुसूसी वार्ड क़ायम किया गया।

टीम ने इस वार्ड का खासतौर पर मुशाहिदा किया जहां वाइरस से मुतास्सिरा मरीज़ों का ईलाज किया जा रहा है। उन्होंने ईलाज मुआलिजे से मुताल्लिक़ कई अफ़राद से बात की। अतराफ़-ओ-अकनाफ़ के माहौल का जायज़ा लिया और डॉक्टर्स से अदवियात-ओ-टीकों की दस्तयाबी के बारे में इस्तिफ़सार किया।

गांधी हॉस्पिटल के हुक्काम को मर्कज़ी टीम से निमटने में मुश्किल पेश आरही थी जिस ने दवाख़ाना में सफ़ाई के इंतिहाई नाक़िस इंतेज़ामात पर नाराज़गी का इज़हार किया। टीम ने कहा कि रियासत के बड़े दवाख़ाने में सफ़ाई का अगर इंतेज़ाम इस तरह हो तो अज़ला के दवाख़ानों की हालत क्या होसकती है।

उन्होंने हॉस्पिटल के ओहदेदारों से इस बारे में सवालात किए। टीम ने हॉस्पिटल इंतिज़ामीया से कहा हैके एहतियाती इक़दामात को यक़ीनी बनाया जाये और फिर स्वाइन फ्लू की अलामात जिन में ज़ाहिर हो इन का फ़ौरी ईलाज किया जाये।

मर्कज़ी टीम ने अब तक स्वाइन फ्लू से मरने वालों के बारे में तफ़सीली रिपोर्ट भी तलब की। मर्कज़ी हुकूमत ने 50 हज़ार स्वाइन फ्लू किट्स रवाना किए हैं इस के अलावा दरकार अदवियात और टीके भी फ़राहम किए जो शहर के अलावा अज़ला के तमाम हॉस्पिटल्स में दस्तयाब रहेंगे।

मर्कज़ी टीम तवक़्क़ो हैके महबूबनगर का भी दौरा करेगी जहां स्वाइन फ्लू के वाक़ियात हैदराबाद के बाद सब से ज़्यादा देखे गए। टीम के अरकान तवक़्क़ो हैके महिकमा-ए-सेहत के ओहदेदारों से तबादला-ए-ख़्याल करेंगे और इस के बाद चीफ़ मिनिस्टर के चन्द्रशेखर राव से मुलाक़ात की जाएगी। बादअज़ां मर्कज़ी टीम हक़ायक़ पर मबनी रिपोर्ट मर्कज़ी वज़ारत-ए-सेहत को पेश करेगी। मर्कज़ी टीम के अलावा रियासती ओहदेदारों ने कहा कि स्वाइन फ्लू वाइरस ने पिछ्ले साल की तरह तबाही नहीं मचाई है और अवाम को तशवीश का शिकार होने की ज़रूरत नहीं। इस के ईलाज के लिए दवाओं की कोई क़िल्लत नहीं है।

वो चीफ़ मिनिस्टर के चन्द्रशेखर राव से ख़ाहिश करेंगे कि गांधी हॉस्पिटल और उस्मानिया हॉस्पिटल में स्वाइन फ्लू केसिस के लिए मुख़तस अलाहिदा वार्डस को बीबीनगर मुंतक़िल करदें। इस के अलावा वो नई दिल्ली में मर्कज़ी वज़ीर-ए-सेहत से भी मुलाक़ात करेंगे और ताज़ा सूरत-ए-हाल से वाक़िफ़ करवाते हुए इस वबा को रोकने के सिलसिले में इज़ाफ़ी मदद की ख़ाहिश करेंगे।

TOPPOPULARRECENT