Wednesday , December 13 2017

मर्कज़ी वज़ीर-ए-क़लीयाती उमूर नज्म हेपतुल्ला का डायरेक्टर मुहम्मद जलालुद्दीन अकबर को तयक़्क़ुन

हैदराबाद 19 अगस्त: मर्कज़ी वज़ीर-ए-क़लीयाती उमूर् नज्म हेपतुल्ला ने यकीन दिया कि वक़्फ़ बोर्ड की तक़सीम का अमल अंदरून एक माह मुकम्मिल कर लिया जाएगा।

सेंट्रल वक़्फ़ कौंसिल के नई दिल्ली में मुनाक़िदा मीटिंग में नज्म हेपतुल्ला ने वक़्फ़ बोर्ड की तक़सीम और तेलंगाना में अक़ल्लियती बहबूद की स्कीमात पर अमल आवरी के सिलसिले में डायरेक्टर अक़लिय‌ती बहबूद मुहम्मद जलालुद्दीन अकबर से बातचीत की।

डायरेक्टर अक़लियती बहबूद ने वक़्फ़ बोर्ड की अदम तक़सीम के बाइस औकाफ़ी जायदादों के तहफ़्फ़ुज़ और द्दुसरे उमूर् में हाइल दुशवारीयों का हवाला दिया। मुताल्लिक़ा ओहदेदारों से बातचीत के बाद मर्कज़ी वज़ीर ने कहा कि अंदरून एक माह वक़्फ़ बोर्ड की तक़सीम का आलामीया जारी कर दिया जाएगा।

उन्होंने अक़लियती बहबूद की स्कीमात और खासतौर पर तालीमी तरक़्क़ी से मुताल्लिक़ उमूर् में तेलंगाना हुकूमत से मुकम्मिल तआवुन का यक़ीन दिलाया।

नजमा हेपतुल्ला ने तेलंगाना में मर्कज़ी स्कीमात पर अमल आवरी की रफ़्तार पर इतमीनान का इज़हार किया। उन्होंने डायरेक्टर अक़लिय‌ती बहबूद को मश्वरा दिया कि मर्कज़ की स्कीमात नई मंज़िल, नई रोशनी और हमारी धरोर से ज़्यादा से ज़्यादा इस्तेफ़ादा किया जाये।

नजमा हेपतुल्ला ने औकाफ़ी जायदादों की तरक़्क़ी के लिए मर्कज़ से फ़ंडज़ की फ़राहमी का भी तयक़्क़ुन दिया। उन्होंने कहा कि औकाफ़ी जायदादों की तरक़्क़ी के ज़रीये उनसे हासिल होने वाली आमदनी अक़लियतों की भलाई पर ख़र्च की जा सकती है।

नजमा हेपतुल्ला ने अक़लियती तलबा के लिए मर्कज़ी हुकूमत की प्रेरी मेट्रिक स्कालरशिप की दरख़ास्तों के इदख़ाल में हाइल दुशवारीयों को दूर करने के लिए महिकमा के ओहदेदारों को हिदायत दी। जारीया साल वेबसाइट में फ़न्नी ख़राबी के सबब तलबा को स्कालरशिप के फॉर्म्स दाख़िल करने में दुशवारीयों का सामना है।

मुल्क भर से मर्कज़ी हुकूमत को इस सिलसिले में शिकायात वसूल हुई हैं। जलालुद्दीन अकबर ने मर्कज़ी वज़ीर को दूसरे औकाफ़ी सर्वे और औकाफ़ी जायदादों के तहफ़्फ़ुज़ के लिए वक़्फ़ बोर्ड की तरफ से किए जा रहे इक़दामात के बारे में तफ़सीली रिपोर्ट पेश की। मीटिंग में जवाइंट सेक्रेटरी अक़लियती उमूर् राकेश मोहन के अलावा दुसरे रियासतें से ताल्लुक़ रखने वाले सेंट्रल वक़्फ़ कौंसिल के अरकान ने की।

TOPPOPULARRECENT