Friday , November 24 2017
Home / Business / मर्कज़ की जानिब से सब्सीडी की हद मुक़र्रर

मर्कज़ की जानिब से सब्सीडी की हद मुक़र्रर

नई दिल्ली: हुकूमत ने केरोसीन पर सब्सीडी अदायगी की हद 12 रुपये फ़ी लीटर और घरेलू पकवान गैस (एलपी जी ) के लिए 18 रुपये फ़ी किलो मुक़र्रर की है। वज़ीरे टेलीकॉम धर्मेन्द्र प्रधान ने आज ये बात बताई। केरोसीन को अवामी निज़ाम तक़सीम के तहत 14.96 रुपये फ़ी लीटर फ़रोख़त किया जा रहा है जबकि असली क़ीमत 29.91 रुपये है।

इन दोनों क़ीमतों में 14.95 रुपये फ़ी लीटर के फ़र्क़ को रीवैन्यू ख़सारा क़रार दिया जा रहा है। हुकूमत की जानिब से केरोसीन पर जहां 12 रुपये सब्सीडी फ़राहम की जा रही है वहीं माबकी 2.95 रुपये की रक़म तेल की पैदावार के हामिल ओ एन जी सी और ऑयल इंडिया लिमेटेड अदा करेंगी।

इसी तरह 14.2 किलो के सब्सीडी के हामिल हर एलपी जी गैस सलिंडर पर 167.18रुपये का रीवैन्यू ख़सारा हो रहा है। सब्सीडी पर एलपी जी सलिंडर की मौजूदा क़ीमत 417.82 रुपये है। प्रधान ने कहा कि सरकारी तेल की कंपनीयां सिर्फ़ केरोसीन और सब्सीडी पर घरेलू एलपी जी का रीवैन्यू ख़सारा बर्दाश्त कर रही हैं क्योंकि पेट्रोल और डीज़ल को बिलतर्तीब जून 2010और अक्टूबर 2014 में सरकारी कंट्रोल से आज़ाद कर दिया गया है।

हर घर को सब्सीडी क़ीमत 417.82 रुपये पर 12 एलपी जी सिलिंडरस सरबराह किए जाते हैं और हर सलिंडर पर 167.18 रुपये रीवैन्यू ख़सारा मुकम्मल हुकूमत बर्दाश्त करती है। सरकारी ओहदेदार ने बताया कि एलपीजी के लिए सब्सीडी की रक़म चूँकि रास्त सारिफ़ीन के खाता में मुंतक़िल की जा रही है उसी लिए हुकूमत ने पूरी रक़म बर्दाश्त करने का फ़ैसला किया है।

TOPPOPULARRECENT