Tuesday , December 12 2017

मलाला को आला यूरोपीय यूनीयन इंसानी हुक़ूक़ एवार्ड

कम उमर पाकिस्तानी जहदकार मलाला यूसुफ़ ज़ई को आज यूरोपीय पार्लीयामेंट के आला सिखारूफ इंसानी हुक़ूक़ एवार्ड से नवाज़ा गया कि उन्हों ने लड़कियों की तालीम के लिए ग़ैर मामूली हिम्मत , अज़म और इस्तिक़लाल का मुज़ाहरा किया , जिस ने तालिबान को

कम उमर पाकिस्तानी जहदकार मलाला यूसुफ़ ज़ई को आज यूरोपीय पार्लीयामेंट के आला सिखारूफ इंसानी हुक़ूक़ एवार्ड से नवाज़ा गया कि उन्हों ने लड़कियों की तालीम के लिए ग़ैर मामूली हिम्मत , अज़म और इस्तिक़लाल का मुज़ाहरा किया , जिस ने तालिबान को मुश्तइल कर दिया, जिन्हों ने गुज़िश्ता साल उन्हें क़त्ल करने की कोशिश की।

ई यू मुक़न्निना के सदर मार्टिन शेल्ज़ ने कहा कि यूरोपीय पार्लीयामेंट इस कम उमर लड़की के ग़ैर मामूली हौसले को दाद देती है। 16 साला जहदकार को गुज़िश्ता साल पाकिस्तान की वादी स्वात में तालिबान ने लड़कियों के हुक़ूक़ तालीम के हक़ में लब कुशाई पर गोली मारी थी।

सिखा रूफ इनाम आज़ादी इज़हार ख़्याल के लिए यूरोपीय पार्लीयामेंट की जानिब से हर साल साईंसदाँ और बाग़ी क़ाइद एंड्री सिखारूफ की याद में दिया जाता है। अमरीका के राज़ों का इन्किशाफ़ करने वाले एडवर्ड स्नोडन भी इस इनाम के लिए दावेदार थे।
50 हज़ार यूरो (5,000 अमरीकी डॉलर ) का ये इनाम यूरोप का मुमताज़ इंसानी हुक़ूक़ एवार्ड समझा जाता है।

TOPPOPULARRECENT