Sunday , February 25 2018

मलिका की तख़तनशीनी(ताक़त सम्बलना ) की 60 वीं सालगिरा पर बहरी परेड

मलिका बर्तानिया की तख़तनशीनी(ताक़त सम्बलना ) की 60 वीं सालगिरा की मुनासबत से दरयाए टीमज़ मैं बहरी परेड हुई जिस में एक हज़ार कश्तीयों ने हिस्सा लिया। लंदन में अबर आलूद मौसम और बारिश के बावजूद लोगों का काफ़ी (ज्यादा)हुजूम इस परेड को देखन

मलिका बर्तानिया की तख़तनशीनी(ताक़त सम्बलना ) की 60 वीं सालगिरा की मुनासबत से दरयाए टीमज़ मैं बहरी परेड हुई जिस में एक हज़ार कश्तीयों ने हिस्सा लिया। लंदन में अबर आलूद मौसम और बारिश के बावजूद लोगों का काफ़ी (ज्यादा)हुजूम इस परेड को देखने के लिए आया और मुल्क भर में गलीयों और महलों में तक़रीबात हुईं।

दरयाए टीमज़ पर इस शानदार बहरी तक़रीब में मलिका दौर के 60 साल और बर्तानिया की जहाज़रानी की तारीख़ का जश्न मनाया गया। बहरी परेड सात मील पर मुहीत थी और तक़रीबन 6 घंटे जारी रही।

इस से पहले इन तक़रीबात के हवाले से ऐलान किया गया था कि तीन जून को होने वाली ये बहरी तक़रीब साढे़ तीन सौ बरस के दौरान होने वाली सब से शानदार बहरी तक़रीब होगी। इसी दौरान शहज़ादा चार्ल्स ने लंदन की पक्का डली स्ट्रीट पार्टी में शिरकत की।

बर्तानिया के मुख़्तलिफ़ हिस्सों में जुबली पार्टी के सिलसिले में तरह तरह की तक़रीबात जारी हैं। बहरी परेड केलिए दरयाए टीमज़ में पानी के बहाओ को भी कम किया गया ताकि कश्तीयों की रफ़्तार पर क़ाबू रखा जा सके।

19 वीं सदी की तारीख़ी बारना बस क्षति के कप्तान एडम केर 400 नाटीकल मील का सफ़र तै कर के इस तक़रीब में शामिल होने केलिए आए। तक़रीब पर एक करोड़ पाऊंड का ख़र्च आया जिसे निजी डोनरज़ ने अदा किया।

इस के इलावा हिफ़ाज़ती इंतिज़ामात पर जो ख़र्च आया उसे टैक्स महसूलात से पूरा किया गया। शाही निज़ाम के ख़िलाफ़ ग्रुप रीपब्लिक ने कहा है के वो इन तक़रीबात की मुख़ालिफ़त करते हैं।

TOPPOPULARRECENT