मलेशियामें दौलते इस्लामीया के असर और रसूख़ को कुचलने की कोशिशें

मलेशियामें दौलते इस्लामीया के असर और रसूख़ को कुचलने की कोशिशें
कम अज़ कम 40 मलेशियाई दौलते इस्लामीया में शामिल हो जाने की इत्तिलाआत के बाद मलेशिया ने अपने शहरियों में इस दहश्तगर्द ग्रुप के असर और रसूख़ को कम करने की कोशिशें शदीद करदी हैं।

कम अज़ कम 40 मलेशियाई दौलते इस्लामीया में शामिल हो जाने की इत्तिलाआत के बाद मलेशिया ने अपने शहरियों में इस दहश्तगर्द ग्रुप के असर और रसूख़ को कम करने की कोशिशें शदीद करदी हैं।

मर्कज़ी वज़ीरे दाख़िला अहमद ज़ाहिद हामिदी ने कहा कि वज़ारती कोशिशों में मौजूदा क़्वानीन को सख़्त बनाना और दीगर वज़ारतों के साथ मालूमात के तबादले और बैनुल अक़वामी नफ़ाज़ क़ानून मजालिस का क़ियाम भी शामिल है।

हामिदी ने जेनरल असेंबली से ख़िताब करते हुए कहा कि हम ने इन सरगर्मियों के ख़िलाफ़ कार्यवाईयों को यक़ीनी बनाया है ताकि मुल्क में अमनो अमान का तहफ़्फ़ुज़ हो सके।

Top Stories