Wednesday , August 15 2018

मल्लिका शेरावत को जोरदार झटका

फिल्म 'डर्टी पॉलीटिक्स' के पोस्टर में तिरंगा छपी ड्रेस पहनकर क़ौमी प्रचम और गाड़ी पर अशोक चक्र की तौहीन करने की दरखास्त पर जवाब दायर नहीं करने पर जिला अदालत ने अदाकारा मल्लिका शेरावत को एक्स पार्टी ऐलान कर दिया। एक्‍स पार्टी का मत

फिल्म ‘डर्टी पॉलीटिक्स’ के पोस्टर में तिरंगा छपी ड्रेस पहनकर क़ौमी प्रचम और गाड़ी पर अशोक चक्र की तौहीन करने की दरखास्त पर जवाब दायर नहीं करने पर जिला अदालत ने अदाकारा मल्लिका शेरावत को एक्स पार्टी ऐलान कर दिया। एक्‍स पार्टी का मतलब ये है कि अब मल्लिका इस मामले में अदालत में अपना फरीक नहीं रख पाएंगी।

मंगल के रोज़ ज्यूडीशियल मजिस्ट्रेट की अदालत में मामले की सुनवाई के दौरान अदाकारा मल्लिका शेरावत और फिल्म डायरेक्टर व प्रोडयूसर केसी बोकाडिय़ा के जवाब दायर न करने पर एक्स पार्टी ऐलान कर दिया। अब मामले में एक्स पार्टी हुए दोनों अपना फरीक नहीं रख सकेंगे।

वहीं सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टीफिकेट की तरफ से अदालत में अपना जवाब अदालत में दायर कर दिया गया।

जवाब में उन्होंने कहा कि डर्टी पॉलीटिक्स फिल्म की तरफ से किसी ने सर्टीफिकेट ही नहीं मांगा है। अगर फिल्म में तिरंगे की तौहीन हो रही है तो सिनेमैटोग्राफी एक्ट की दफा-5 के तहत कार्रवाई की जाएगी। अदालत इस मामले में फिल्म अदाकारा मल्लिका शेरावत और फिल्म प्रोडयूसर और डायरेक्टर केसी बोकाडिय़ा को जवाब दायर करने के लिए 12 जून, 13 जून, 2 जुलाई और 4 अगस्त को नोटिस कर चुकी है लेकिन उनकी तरफ से कोई जवाब नहीं आया था।

मामले में फिल्म के पोस्टर शहर में न लगने को लेकर इंतेज़ामिया और एसएसपी से भी जवाब मांगा है। मामले की अगली सुनवाई के लिए 16 सितंबर की तारीख मुकर्रर की गई है।

शहर के सेक्टर 22 की सोनिया मट्टू ने तीन जून को दायर दरखास्त कहा कि जोधपुर की भंवरी देवी कत्ल केस पर बनाई गई डर्टी पॉलीटिक्स फिल्म में मल्लिका शेरावत ने तिरंगे वाली ड्रेस पहनी हुई है। इसके अलावा पोस्टर में मल्लिका जिस गाड़ी पर बैठी है, उसके आगे अशोक चक्र लगा है। यह कौमी परचम और अशोक चक्र की तौहीन है।

उन्होंने इस पोस्टर पर रोक लगाने या इसे तरमीम करने की मांग की है। उन्होंने दरखास्त में इंतेज़ामिया और चंडीगढ़ पुलिस के एसएसपी से मांग की थी कि इस फिल्म का पोस्टर शहर न लगाने से रोक लगाई जाएं। 30 मई को भी मोहाली के एक वकील ने जिला अदालत में फिल्म पर रोक लगाने और मुजरिमाना मामला दर्ज करने के लिए मुजरिमाना अर्जी दाखिल की गई थी।

TOPPOPULARRECENT