Wednesday , December 13 2017

मल‌क पेट हलक़ा में अमजद उल्लाह ख़ालिद का दौरा

मसलाधार बारिश में अवामी मसाइल से आगाही ओहदेदारों से नुमाइंदगी

मसलाधार बारिश में अवामी मसाइल से आगाही ओहदेदारों से नुमाइंदगी
कारपोरेटर मजलिस बचाव‌ तहरीक अमजद उल्लाह ख़ां ख़ालिद ने हलक़ा असैंबली मलक पेट के मुख़्तलिफ़ बलदी डिविजन‌ बिशमोल आज़म पूरा के इलाक़ों में मसलाधार बारिश के बावजूद तफ़सीली दौरा करके मसाइल का जायज़ा लिया ।

उन्हों ने मुख़्तलिफ़ नशीबी इलाक़ों की सूरत-ए-हाल का जायज़ा लिया जो कि तालाब जैसा मंज़र पेश कररहा था । उन्हों ने बरसर मौक़ा मज़कूरा बारिश के पानी की मूसिर निकासी केलिए बलदी ओहदेदारों को हिदायत दी । मुक़ामी अवाम अमजद उल्लाह ख़ां ख़ालिद के हमराह ख़ुद बारिश के पानी में भीगते हुए बारिश के सबब अबतर डेनिज निज़ाम के सबब डेनिज के पानी का सड़कों पर बहता हुआ दिखाया और बताया कि गंदा पानी नशीबी इलाक़ों में गुज़र है जिस की वजह से अवाम बदबू से बीमारियों का शिकार होरहे हैं ।

अवाम ने हलक़ा असैंबली के तमाम बलदी डिविजन‌ की अबतर सूरत-ए-हाल से अमजद उल्लाह ख़ां ख़ालिद को वाक़िफ़ करवाते हुए बताया कि मलक‌ पेट का कोई पुर्साने हाल नहीं । अवामी मुंख़बा नुमाइंदों को फ़ुर्सत नहीं कि वो अवाम के मसाइल पर तवज्जु दें । अमजद उल्लाह ख़ां ख़ालिद ने ना सिर्फ बलदी बल्कि आ बरसानी और बर्क़ी हुक्काम पर ब्रहमी का इज़हार करते हुए उन्हें इंतिबाह दिया कि अगर वो मलक‌ पेट के मसाइल में लापरवाही के मुर्तक़िब होंगे तो उन्हें ख़मयाज़ा भुगतने तय्यार रहना पड़ेगा क्यों कि मजलिस बचाव‌ तहरीक का अव्वलीन मक़सद-ओ-मंशा है कि वो ना सिर्फ मिल्लत के मसाइल को हल करती है बल्कि वो अवाम को बुनियादी सहूलतों की फ़राहमी की पाबंद है ।

उन्हों ने अवाम को तक़न दिया कि वो बला ख़ौफ़-ओ-अपने मसाइल की यकसूई केलिए दफ़्तर मजलिस बचाव‌ तहरीक यह फिर 9246529800 पर रब्त करते हुए अपने मसाइल को हल करवा सकते हैं । बलदी बर्क़ी और आ बरसानी ओहदेदारों ने हलक़ा मलक‌ पेट के इन तमाम मसाइल जिन्हें अमजद उल्लाह ख़ां ख़ालिद ने निशानदेही करवाई है माह स्याम से क़बल यकसूई करने का तीक़न दिया ।

TOPPOPULARRECENT