Tuesday , August 14 2018

मसर्रत आलम की रिहाई का मक़सद अलाह‌दगी पसंदों से बातचीत : पी डी पी दुबारा गिरफ़्तारी का बी जे पी का मुतालिबा

जम्मू

जम्मू

मसर्रत आलम की रिहाई पर मख़लूत हुकूमत की हलीम बी जे पी की तन्क़ीद का सामना करनेवाली पी डी पी ने आज कहा कि ये इक़दाम अलाह‌दगी पसंदों के साथ मुज़ाकरात के लिए साज़गार माहौल फ़राहम करने के मक़सद से किया गया है। पार्टी ने कहा कि वो हुकूमत की जानिब से मसर्रत आलम की रिहाई के फ़ैसला का मुकम्मल दिफ़ा करती है।

उनकी रिहाई का हुक्म अदालतों ने दिया है और रियासती हुकूमत ने सिर्फ़ इस पर अमलावरी की है। पार्टी की सीनियर क़ाइद रुकन क़ानूनसाज़ काउंसिल फ़िर्दोस टॉक एक प्रेंस कान्फ़्रेंस से ख़िताब कररही थीं। दरीं असना बी जे पी के अरकाने असेम्बली ने चीफ़ मिनिस्टर मुफ़्ती मुहम्मद सईद की जानिब से सख़्त गीर अलहिदगी पसंद क़ाइद मसर्रत आलम की रिहाई के ख़िलाफ़ एहतेजाज करते हुए उनकी दुबारा गिरफ़्तारी का मुतालिबा किया।

पार्टी ने ग़लत मालूमात फ़राहम करने की मुहिम पर भी एतराज़ किया और कहा कि मसर्रत आलम की रिहाई का फ़ैसले इस से मश्वरा किए बगै़र किया गया था। रियासती बी जे पी के जनरल सेक्रेटरी राजीव जसरोटिया की ज़ेर-ए-क़ियादत अरकाने असेम्बली ने चीफ़ मिनिस्टर मुफ़्ती मुहम्मद सईद से उनकी क़ियामगाह पर मुलाक़ात की और एक याददाश्त पेश की।

जसरोटिया ने बादअज़ां प्रेस कान्फ़्रेंस से ख़िताब करते हुए कहा कि चीफ़ मिनिस्टर से सख़्त एहतेजाज करते हुए उन के यकतरफ़ा फ़ैसले पर गहरे अंदेशे ज़ाहिर किए गए हैं। उन्होंने इद्दिआ किया कि चीफ़ मिनिस्टर ने नहीं तैक़ून दिया है कि उनके अंदेशों का अज़ाला किया जाएगा ।

TOPPOPULARRECENT