Thursday , December 14 2017

मसाजिद को आबाद रखने की तलक़ीन

महबूबनगर 13 मई: मस्जिद की तामीर का संग-ए-बुनियाद रखते हुए मेहमान ख़ुसूसी मौलाना मुहम्मद अनवर ख़ान प्रिंसिपल अनवार उल-उलूम कॉलेज हैदराबाद, मौलाना मुहम्मद ख़्वाजा नाज़िम जमात-ए-इस्लामी हिंद रंगारेड्डी ने अपने अपने बयानात में कहा कि म

महबूबनगर 13 मई: मस्जिद की तामीर का संग-ए-बुनियाद रखते हुए मेहमान ख़ुसूसी मौलाना मुहम्मद अनवर ख़ान प्रिंसिपल अनवार उल-उलूम कॉलेज हैदराबाद, मौलाना मुहम्मद ख़्वाजा नाज़िम जमात-ए-इस्लामी हिंद रंगारेड्डी ने अपने अपने बयानात में कहा कि मस्जिदों को वही लोग आबाद करते हैं जो अल्लाह पर और आख़िरत के दिन पर यक़ीन रखते हैं।

मस्जिदें अल्लाह के घर हैं जो भी अहल ए ईमान दुनिया में अल्लाह का घर तामीर करेगा अल्लाह उसे आख़िरत में आलीशान महल अता फ़रमाएंगे।

और जो भी अल्लाह के घर को आबाद रखेगा अल्लाह इस के घर को भी आबाद रखेगा। और जो भी अल्लाह के घरों से दूरी इख़तियार करेगा , मस्जिदों को वीरान करेगा अल्लाह इस के घर को भी वीरान करेगा।

मौलाना मुहम्मद अनवर ख़ान-ओ-मौलाना मुहम्मद ख़्वाजा ने मुसलमानें से ख़ाहिश की के वो अपना पाक माल दिल खोल कर मस्जिद की तामीर के लिए दें।

उन्होंने मुआशरे की इस्लाह पर ज़ोर देते हुए कहा कि वो अपने मुआशरा को यहूद वा नसारा और कुफ़्फ़ार-ओ-मुशरिकीन के तरीक़ों से बचाए रखें।

घरों में क़ुरआन मजीद की तिलावत-ओ-तर्जुमा समझ कर पढ़ें और घरों में अल्लाह-ओ-रसूल(PBUH) का तज़किरा हमेशा करते रहें।

मौलाना ने ख़वातीन पर भी ज़ोर दिया कि वो अपनी ज़बान पर लग़ाम दें, मामूली मामूली बातों पर औलाद को हरगिज़ ग़ुस्सा ना करें पता नहीं कौनसी घड़ी अल्लाह के यहां क़बूलीयत की हो, ख़वातीन शौहरों की ख़िदमत गुज़ारी में कोई कसर ना छोड़ें और उन की इताअत करें।

डाक्टर सय्यद मुहम्मद इसमईल पिर शाह कादरी उल-हुसैनी रज़वी ने भी अपने ख़िताब में कहा कि मस्जिद अल्लाह का घर है जहां इबादत की जाती है।

मुसलमानों के लिए ज़रूरी है कि वो हमेशा अपने वक़्त को मसाजिद में गुज़ारें। उन्होंने कहा कि ज़मीन पर अल्लाह के नज़दीक सब से ज़्यादा पसंदीदा जगह वो है जहां पर मस्जिद तामीर की जाती है।

इस मौके पर मस्जिद की तामीर के लिए मुक़ामी सरपंच सूर्य गौड़ की कामयाब नुमाइंदगी और मुसलमानों से ग़ैरमामूली हमदर्दी करने पर उन की गलपोशी और शाल पोशी भी की गई।

TOPPOPULARRECENT