Wednesday , December 13 2017

मसाजिद, मनादिर और दुसरे मज़हबी इबादतगाहों की फ़िल्म बंदी

शहर में मज़हबी इबादतगाहों के मूसिर तहफ़्फ़ुज़ के साथ साथ नए तनाज़आत पर क़ाबू पाने के मक़सद से सिटी पुलिस ने इन का रिकार्ड महफ़ूज़ रखने का फ़ैसला किया। चुनांचे पुलिस की तरफ से मनादिर मसाजिद छल्ले और दुसरे मज़हबी मुक़ामात की फ़िल्मबंदी की जा र

शहर में मज़हबी इबादतगाहों के मूसिर तहफ़्फ़ुज़ के साथ साथ नए तनाज़आत पर क़ाबू पाने के मक़सद से सिटी पुलिस ने इन का रिकार्ड महफ़ूज़ रखने का फ़ैसला किया। चुनांचे पुलिस की तरफ से मनादिर मसाजिद छल्ले और दुसरे मज़हबी मुक़ामात की फ़िल्मबंदी की जा रही है और मुताल्लिक़ा पुलिस स्टेशनस में इन का रिकार्ड महफ़ूज़ रखा जा रहा है।

मज़हबी मुक़ामात के सिलसिले में हालिया दिनों पेश आए तनाज़आत और फ़िर्कावाराना नौईयत के वाक़ियात को देखते हुए पुलिस ने पहली मर्तबा उस नौईयत का काम शुरू किया है। बताया जाता हैके कमिशनर पुलिस हैदराबाद एम महिन्द्र रेड्डी ने शहर के तमाम 60 पुलिस स्टेशनों के इंस्पेक्टर उन को हिदायत जारी करते हुए अपने मुताल्लिक़ा इलाक़ों में मौजूद मज़हबी मुक़ामात की तफ़सीलात रेकॉर्ड्स की शक्ल में महफ़ूज़ करने की हिदायत दी है।

कमिशनर पुलिस की तरफ से इस इक़दाम की सराहना की गई है क्युंकि आए दिन शहर में मज़हबी मुक़ामात की अचानक तौसीअ के वाक़ियात से अमन-ओ-अमान को ख़तरा लाहक़ होगया था और तहरीरी रिकार्ड मौजूद होने पर कई तनाज़आत की बरवक़्त यकसूई की जा सकती है। मुताल्लिक़ा पुलिस की तरफ से मज़हबी मुक़ाम यानी मंदिर या मस्जिद के सरपरस्तों की तफ़सीलात के अलावा मज़हबी इमारतों की तसावीर भी महफ़ूज़ किए जा रहे हैं।

TOPPOPULARRECENT