Monday , November 20 2017
Home / International / मसूद अजहर को आतंकी घोषित नहीं करने पर भारत ने सुरक्षा परिषद पर निशाना साधा

मसूद अजहर को आतंकी घोषित नहीं करने पर भारत ने सुरक्षा परिषद पर निशाना साधा

संयुक्त राष्ट्र द्वारा जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी मसूद अजहर को बैन कराने की कोशिश को चीन की और से बाधित किया गया है   | भारत ने पाकिस्तान आधारित आतंकी संगठनों और उनके नेताओं को आतंकवादी घोषित करने के लिए कोई फ़ैसला न लेने की स्थिति को देखते हुए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद पर निशाना साधा है | उन्होंने कहा कि ये हमारे लिए उदासीन बन चुकी है | संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने बुधवार (5 अक्टूबर) को संयुक्त राष्ट्र महासभा से कहा कि 15 सदस्यीय सुरक्षा परिषद ईकाई परिषद का मक़सद शांति एवं सुरक्षा बनाये रखना था | हमारे समय की ज़रूरतों को लेकर ये उदासीन है और अपने समक्ष खड़ी चुनौतियों से निपटने में निष्प्रभावी है |

चीन का नाम लिए बगैर अकबरूद्दीन ने अजहर के खिलाफ भारत के प्रयास पर बीजिंग की ओर से तकनीकी रोक लगाए जाने का हवाला देते हुए कहा कि सुरक्षा परिषद ने इसी सोच-विचार में छह महीने लगा दिए कि क्या उन संगठनों के नेताओं को बैन किया जाना चाहिए करना चाहिए, जिनको उसने खुद ही आतंकी इकाइयां घोषित किया था |

उन्होंने कहा, इसके बाद भी वह फैसला नहीं करती। इस मुद्दे पर आगे और विचार के लिए तीन महीने का समय और देती है | किसी को भी सिर्फ यह जानने के लिए नौ महीने का बेसब्री से इंतज़ार करना पड़ता है कि परिषद ने इस एकमात्र मुद्दे पर फैसला किया या नहीं |

इससे पहले भी भारत सयुंक्त राष्ट्र के  भेदभावपूर्ण रवैय्ये को लेकर निशाना साध चुका है |

 

TOPPOPULARRECENT