महागठबंधन को झटका, मायावती बोली- ‘सम्मानजनक सीटें मिलने के बाद ही गठबंधन’

महागठबंधन को झटका, मायावती बोली- ‘सम्मानजनक सीटें मिलने के बाद ही गठबंधन’
Click for full image

सरकारी बंगला छोड़ने के बाद 9 मॉल एवेन्यू स्थित अपने आवास में शिफ्ट होने के बाद बसपा सुप्रीमो मायावती ने रविवार को कुछ अहम मुद्दों पर पत्रकारों के साथ बातचीत की। इस बातचीत के दौरान बसपा सुप्रीमो ने भाजपा पर जमकर निशाना साधा और भाजपा पर चुनावी वादा खिलाफी का आरोप भी लगाया।

मायावती ने कहा कि ‘भाजपा ने जनता से वादा खिलाफी की है। बीजेपी द्वारा 500 और 1 हजार के नोट पर प्रतिबंद राष्ट्रीय त्रासदी साबित हुई है। नोटबंदी के दौरान आम जनता को खासी समस्याओं का सामना करना पड़ा। बीजेपी का नोटबंदी का फैसला जनता पर आर्थिक इमरजेंसी साबित हुआ है। जिसके लिए भाजपा को जनता से माफी मांगना चाहिए।

रुपये पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि ‘अंतराष्ट्रीय बाजार में रुपये की कीमत रिकॉर्ड तोड़ गिरती जा रही है। वहीं पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों ने भी आम आदमी के लिए समस्याएं खड़ी कर दी हैं।

देश में रोजगार का संकट बढ़ता जा रहा है। बीजेपी ने अच्छे दिन के सपने दिखाकर देश की जनता का बुरा हाल कर दिया है। धन्ना सेठों को छोड़कर देश में किसी का भी भला नहीं हुआ है।

वहीं 2019 में लोकसभा चुनाव को लेकर बीजेपी गठबंधन पर अपनी चुप्पी तोड़ते हुए बसपा सुप्रीमो ने कहा कि ‘बसपा सम्मानजनक सीटों पर ही गठबंधन के लिए तैयार होगी।

वरना बसपा अकेले ही चुनाव लड़ेगी। उन्होंने आगे कहा कि ‘उनका किसी के साथ भाई-बहन या बुआ भतीजे का रिश्ता नहीं है, लेकिन बीजेपी को रोकने के लिए हम गठबंधन के पक्ष में हैं। बीजेपी की कथनी और करनी में बहुत फर्क है।

बीजेपी शासन में मॉब लिंचिंग ने हमारे देश की लोकतांत्रिक छवि को कलंकित कर दिया है। बीजेपी एंड कंपनी के लोगों का कहना है कि इनकी सरकार अटल जी के पदचिन्हों पर काम करती है। अगर ऐसा होता तो गौ हिंसा और साम्प्रदायिक घटना नहीं होती’।

Top Stories