Thursday , December 14 2017

महिकमा अक़लियती बहबूद की मायूसकुन कारकर्दगी नसफ़ बजट ही ख़र्च हुआ

हैदराबाद 11 मार्च: तेलंगाना असेंबली के बजट मीटिंग शुरु हुवी और बजट की पेशकशी के साथ ही मालीयाती साल 2015-16 का अमलन इख़तेताम अमल में आएगा। एसे में महिकमा अक़लियती बहबूद के लिए हुकूमत के बजट की इजराई का जायज़ा लिया जाये तो अंदाज़ा होगा कि मालीयाती साल के खतम तक नसफ़ बजट भी ख़र्च नहीं किया गया।

महिकमा फाइनैंस के ताज़ा-तरीन आदाद-ओ-शुमार के मुताबिक़ मालीयाती साल 2015-16 में हुकूमत ने अक़लियती बहबूद के तहत 1100 करोड़ रुपये मुख़तस किए थे बाद में 50 करोड़ 37 लाख का इज़ाफ़ा किया गया। इस तरह अक़लियती बहबूद का मजमूई बजट 1150 करोड़ 37लाख तक पहुंच गया। महिकमा फाइनैंस ने अभी तक सिर्फ 446 करोड़ रुपये जारी किए हैं। अगर शादी मुबारक स्कीम के 100 करोड़ शामिल करलिए जाएं तो मजमूई तौर पर बजट की इजराई 564 करोड़ रुपये होगी।

बजट के ख़र्च के मुआमले में महिकमा अक़लियती बहबूद की कारकर्दगी मायूसकुन है। महिकमा फाइनैंस के रिकार्ड के मुताबिक़ 413 करोड़ 65 लाख रुपये ख़र्च किए गए और अगर शादी मुबारक के 100 करोड़ भी ख़र्च में शुमार किए जाएं तो मजमूई ख़र्च 513 करोड़ होगा। बताया जाता है कि मालीयाती साल 2016-17 के बजट की पेशकशी के बाद बाक़ी रक़म ख़ज़ाने में वापिस चली जाएगी।

अक़लियती तलबा के स्कालरशिप के लिए 100 करोड़ रुपये मुख़तस किए गए थे और 50 करोड़ रुपये जारी हुए जिनमें से 28 करोड़ 71 लाख रुपये ख़र्च हुए हैं। फ़ीस बाज़ अदायगी स्कीम के लिए 425 करोड़ रुपये मुख़तस किए गए जबकि 134 करोड़ 41लाख जारी हुए जिनमें से 101करोड़ 4 लाख रुपये ख़र्च किए गए।

अक़लियती तालिबात के अक़ामती स्कूलस के लिए 20 करोड़ मुख़तस थे और 10 करोड़ की इजराई अमल में आई लेकिन ये रक़म ख़र्च नहीं की गई। बैंकों से मरबूत सब्सीडी स्कीम के लिए 95 करोड़ रुपये मुख़तस किए गए और 47 करोड़ 50 लाख की इजराई अमल में आई। दायरा तुलमारफ़ के लिए 2 करोड़ के बजट में सिर्फ एक करोड़ रुपये जारी किए गए। उर्दू एकेडेमी के 12 करोड़ बजट में से 6 करोड़ की इजराई अमल में आई। वक़्फ़ बोर्ड के 53 करोड़ के बजट में 32 करोड़ जारी किए गए और 25 करोड़ 25 लाख ख़र्च हुए हैं। सर्वे कमिशनर वक़्फ़ के लिए 5 करोड़ के मिनजुमला 2.5 करोड़ रुपये जारी किए गए। सेंटर फ़ार एजूकेशनल डेवलपमेंट आफ़ माइनॉरिटीस के लिए मुख़तस करदा 3 करोड़ में नसफ़ बजट ही जारी किया गया। उर्दू घर। शादी ख़ानों की तामीर के लिए 10 करोड़ के मिनजुमला 5 करोड़ ही जारी किए गए।

TOPPOPULARRECENT