Monday , December 18 2017

महिकमा अक़लियती बहबूद में फ़र्ज़शनास ओहदेदार बेबस , आला आफ़िसरान की बेज़ारगी

किया दयानतदार और फ़र्ज़शनास ओहदेदारों के लिए महिकमा अक़लियती बहबूद में कोई जगह नहीं?

किया दयानतदार और फ़र्ज़शनास ओहदेदारों के लिए महिकमा अक़लियती बहबूद में कोई जगह नहीं? ये सवाल इसवक़्त खड़ा हुआ जब महिकमा अक़लियती बहबूद तेलंगाना में डिप्टी सेक्रेटरी की हैसियत से फ़ाइज़ किए गए ओहदेदार ने जायज़ा हासिल करने के तीन दिन बाद एक माह की तवील रुख़स्त की दरख़ास्त पेश करदी और महिकमा के सेक्रेटरी के रवैय्ये की शिकायत की।

वाज़िह रहे कि हुकूमत ने जी ए डी से ताल्लुक़ रखने वाली ख़ातून ओहदेदार का तबादला करते हुए महिकमा अक़लियती बहबूद में डिप्टी सेक्रेटरी के तौर पर फ़ाइज़ किया था। इस ख़ातून ने पीर के दिन अपने ओहदा की ज़िम्मेदारी सँभाली लेकिन सेक्रेटरी अक़लियती बहबूद की तरफ से फाईलों की यकसूई के सिलसिले में दी गई हिदायात को मुबय्यना तौर पर बे ख़ातिर करते हुए उन्होंने रुख़स्त की दरख़ास्त पेश करदी।

सेक्रेटरी अक़लियती बहबूद अहमद नदीम जो कमिशनर एकसाईज़ के अलावा अक़लियती बहबूद की ज़ाइद ज़िम्मेदारी सँभाले हुए हैं वो महिकमा में स्टाफ़ की कमी के बावजूद अक़लियती बहबूद की कारकर्दगी बेहतर बनाने हर मुम्किन कोशिश कररहे हैं लेकिन मातहत ओहदेदारों की सुस्ती और अदम तआवुन के रवैय्ये ने उन के लिए मुश्किलात पैदा करदें। तेलंगाना के महिकमा अक़लियती बहबूद में अगरचे डिप्टी सेक्रेटरी रैंक ओहदेदार की गुंजाइश नहीं है ताहम आला ओहदेदारों से मुसलसिल नुमाइंदगी करते हुए अहमद नदीम ने जी ए डी से डिप्टी सेक्रेटरी ओहदेदार को हासिल किया ताके महिकमा की कारकर्दगी को बेहतर बनाया जा सके। बताया जाता हैके फाईलों की यकसूई के सिलसिले में तजुर्बा की कमी के बाइस मातहत ओहदेदार सेक्रेटरी से मुकम्मिल तआवुन करने से क़ासिर थे।

इस सूरत-ए-हाल से निमटने के लिए उन्होंने डिप्टी सेक्रेटरी को हासिल किया। बताया जाता हैके बाज़ फाईलों की आजलाना यकसूई के सिलसिले में दी गई हिदायात से नाराज़ होकर डिप्टी सेक्रेटरी ने जायज़ा हासिल करने के तीन दिन बाद ही एक माह की रुख़स्त की दरख़ास्त पेश करदी।

बताया जाता हैके डिप्टी सेक्रेटरी ने सेक्रेट्रियट गज़ीटेड ऑफीसरस एसोसीएशन से रुजू होकर सेक्रेटरी अक़लियती बहबूद की शिकायत की। ख़ुद एसोसीएशन के ओहदेदार भी डिप्टी सेक्रेटरी की इस हरकत पर हैरतज़दा रह गए क्युंकि अहमद नदीम की फ़र्ज़शनासी और काम के तरीका-ए-कार से हर कोई अच्छी तरह वाक़िफ़ हैं।

एसोसीएशन् के ओहदेदारों ने नाराज़ डिप्टी सेक्रेटरी को मश्वरह दिया कि वो शिकायत के बजाय अपनी ज़िम्मेदारी बेहतर तौर पर निभाते हुए ख़िदमात जारी रखें। तवक़्क़ो की जा रही हैके जी ए डी ए आला ओहदेदार इस सिलसिले में मुदाख़िलत करते हुए मज़कूरा ओहदेदार को रुख़स्त वापिस लेने की तरग़ीब देंगे।

TOPPOPULARRECENT