Tuesday , December 19 2017

महिकमा डाक पर अवाम का अटूट एकान् ,वज़ीर टेलीकॉम रवी शंकर प्रसाद का इद्दिआ

नई दिल्ली

नई दिल्ली

हिन्दुस्तान में महिकमा डाक की अहमियत को घटाने की कोशिशों पर शदीद रद्द-ए-अमल का इज़हार करते हुए वज़ीर टेलीकॉम मिस्टर रवी शंकर प्रसाद ने आज ये इद्दिआ किया है कि मौइस्टों भी अवाम की ताईद से महरूमी के अंदेशा से पोस्टल नटवर्क को निशाना नहीं बनाते।

इंडियन पोस्ट के मोबाईल उपले किशन का इफ़्तेताह करते हुए उन्होंने बताया कि मुल्क के अवाम हुनूज़ महिकमा डाक पर भरोसा करते हैं। चूँकि ये एक हस्सास मसला है। अगरचे कि बाज़ इलाक़ों में मौइस्टों का तशद्दुद बेक़ाबू है लेकिन वो महिकमा डाक मुलाज़मीन पर शाज़-ओ-नादिर ही हमला करते हैं क्यों कि वो जानते हैं कि अगर इस तरह के हमला किए गए तो अवाम नाराज़ हूजाएंगे।

मर्कज़ी वज़ीर ने ये मश्वरा दिया कि इंडिया पोस्ट को ई कॉमर्स शोबा में सरगर्म रोल अदा करना चाहिए। और इस ख़ुसूस में महिकमा डाक 4 क़दम बढ़ाता है तो वो 10 क़दम पेशरफ़्त करेंगे क्यों कि ई कॉमर्स का मुस्तक़बिल दरख़शां है। मिस्टर रवी शंकर प्रसाद ने ये तैक़ून दिया कि महिकमा डाक से एक भी मुलाज़िम को नहीं निकाला जाएगा।

वाज़िह रहे कि महिकमा डाक ने इलाक़ा सफदरजंग नई दिल्ली में ई कॉमर्स सैंटर का क़ियाम अमल में लाया है जो कि ई कॉमर्स को ख़ुसूसी तौर पर अंजाम देगा । असरी टैक्नालोजी से आरास्ता ये सैंटर यौमिया 30 हज़ार पार्सल से निमटेगा। जब कि ई कॉमर्स के सरकरदा कंपनियां आमेज़न , पाएम , यामपी , स्नेप डील ने महिकमा डाक की ख़िदमात से इस्तिफ़ादा शुरू करदिया है । वाज़िह है कि हिन्दुस्तान भर में 1.55 लाख पोस्ट ऑफिसेस हैं जिस में 1.39 लाख देही इलाक़ों में वाक़्य हैं ।

TOPPOPULARRECENT