Saturday , November 18 2017
Home / International / महिलाओं के मार्च से वाशिंगटन में आई पिंक हैट और उग्र बयानबाजियों की बाढ़

महिलाओं के मार्च से वाशिंगटन में आई पिंक हैट और उग्र बयानबाजियों की बाढ़

मार्च

शनिवार को महिलाओं ने वाशिंगटन में लैंगिक समानता के लिए हजारों की तादाद में एक मार्च निकाला। “मेक अमेरिका काइंड अगेन” और “दा फ्यूचर इज़ फीमेल” जैसे नारों के साथ वाशिंगटन में नेशनल मॉल के करीब सड़कों पर महिलाओं का एक समुद्र सा नज़र आया।

यह अमेरिका के राष्ट्रपति के रूप में ट्रम्प का पहला दिन था और वह वाशिंगटन नेशनल कैथेड्रल में प्रार्थना सभा में हिस्सा ले रहे थे। उसी समय अमेरिका के अलग अलग इलाकों से अपने वाहनों और पब्लिक ट्रांसपोर्ट से प्रदर्शनकारी नेशनल माल के करीब इकठ्ठा हुए। यह प्रदर्शनकारी महिला अधिकारों पर विभिन्न सामाजिक कार्यकर्ताओं, नेताओं और सेलेब्रिटीयों को सुनने आये थे।

इस मार्च के आयोजकों का कहना था कि उन्होंने इस मार्च का आयोजन इसलिए किया है जिससे इस नव निर्वाचित सरकार को मजबूत सन्देश भेजा जा सके की महिला अधिकार भी वास्तव में मानव अधिकार होते हैं।

इस मार्च के दौरान कहीं भी कोई ट्रम्प समर्थक नज़र नहीं आया। जो भी लोग नज़र आ रहे थे वे केवल प्रदर्शनकारी थे जिनमें से ज़्यादातर ने गुलाबी हैट पहने हुए थे। यह पिंक हैट जिनमें बिल्ली के जैसे कान भी बने हुए थे इस मार्च का निशान था।

“हम इस देश की नैतिकता के लिए मार्च कर रहे हैं, जिसके खिलाफ हमारा नया राष्ट्रपति युद्ध छेड़ रहा है,” अभिनेत्री अमेरिका फरेरा ने प्रदर्शनकारियों से कहा।”हमारी गरिमा, हमारा चरित्र, इस सब पर हमला हो रहा है और नफरत और विभाजन के एक मंच ने कल सत्ता संभाली है।।। लेकिन राष्ट्रपति अमेरिका नहीं है, हम अमेरिका हैं और हमें ही यहाँ रहना है।”

इस मार्च के आयोजकों में से एक और जानी मानी नारीवादी कार्यकर्त्ता ग्लोरिया स्तेइनिएम ने बताया की वाशिंगटन के अलावा दुनिया भर के कई अन्य शहरों जैसे सेन डिएगो और सिडनी में भी इस तरह के मार्च हो रहे हैं।

“मैं दुनिया के अन्य शहरों में हो रहे मार्च के आयोजकों से बात कर रही थी। बर्लिन में हो रहे मार्च के आयोजकों ने मुझसे एक सन्देश आप सभी को देने के लिए कहा। उन्होंने कहा है कि वे बर्लिन में जानते हैं कि दीवारें किसी काम की नहीं होती हैं और वे ऐसा बर्लिन में देख चुके हैं,” ग्लोरिया स्तेइनिएम ने ट्रम्प की मेक्सिको बॉर्डर पर दीवार बनाने की प्रतिज्ञा की तरफ इशारा करते हुए कहा।

“मैं इस ट्रम्प विरोधी मार्च नहीं कहूँगी। बल्कि मैं कहूँगी कि ट्रम्प हम तुम पर नज़र रखे हुए हैं,” शिकागो से मुस्लिम वीमेन अलायन्स के साथ आई आयशा अहमद ने कहा।

मार्च को कई मशहूर सेलेब्रिटीयों की तरफ से भी समर्थन हासिल हुआ। इस मार्च में अभिनेत्री स्कारलेट जोनसन और एश्ले जुडस, गायिका अलिशिया कीस और मडोना ने भी भीड़ को संबोधित किया।

TOPPOPULARRECENT