Saturday , September 22 2018

महिला सुरक्षा को नज़र अंदाज़ करके मीडिया का सारा फोकस तलाक पर है :मुस्लिम पर्सनल ला बोर्ड

भोपाल -आल इंडिया पर्सनल लॉ बोर्ड ने सरकार द्वारा मुस्लिम के मज़हबी मामलो में दखल देने पर सख्त एतराज़ किया है .डाक्टर अस्मा जेहरा जोकि आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल ला बोर्ड की एग्जीक्यूटिव कमिटी मेम्बर है ने मीडिया से बातचीत में कहा “भारत एक धर्मनिरपेक्ष देश है मुसलमानों को संविधान ये हक देता है हम अपने मज़हबी अरकान अपने हिसाब से तय करे .

मुस्लिम ही नही यहाँ हर धर्म को अपने हिसाब से अपने धार्मिक क्रिया कर्म करने की इज़ाज़त है मुस्लिम पर्सनेल ला बोर्ड पाक कुरान और पैगमबर मुहम्मद की सुन्नत पे चलता है
हम अपने मज़हबी मामलो में किसी भी प्रकार की दखल अंदाजी के खिलाफ है देश की दस कड़ोड़ महिलायें इस्लामिक रस्मो की हिफाज़त के लियें लड़ेंगी .

उन्होंने कहा भारतीय समाज में महिला उत्पीडन बड़ी समस्या है जिसमे कि दहेज़ ,डोमेस्टिक वायलेंस और महिलाओं की सुरक्षा जैसे कई मुद्दे है जोकि भारतीय महिलाओ में खौफ पैदा करती है लेकिन इन मामलो नज़रंदाज़ करके तलाक के मसले पर मीडिया में डिबेट कराई जा रही है या यु कहें किसी के इशारे पर करवाई जा रही है

उन्होंने मीडिया द्वारा प्रोपगंडा करने पर भी मीडिया की भी आलोचना की .अस्मा जहरा हैदराबाद से भोपाल एक जलसे को संबोदित करने आई थी

TOPPOPULARRECENT