Wednesday , January 17 2018

महिला IAS ने धर्म परिवर्तन मामले में सरकार पर उठाये सवाल, जारी हुआ नोटिस

झारखण्ड: प्रदेश में कार्यरत महिला आईएएस अफसर वंदना दादेल द्वारा धर्म परिवर्तन के मुद्दे पर अपने फेसबुक अकाउंट से की गई टिप्पणी पर राज्य सरकार ने उन्हें कारण बताओ जारी किया है। इस नोटिस का जवाब न दिए जाने की सूरत में विभाग द्वारा उनके खिलाफ कार्रवाई करने की धमकी भी दी है।

आईएएस वंदना दादेल ग्रामीण विकास विभाग (पंचायती राज) में बतौर सचिव काम कर रही हैं। कुछ दिन पहले झारखण्ड के सीएम ने एक सरकारी कार्यक्रम के दौरान कबीलाई लोगों के धर्म और उनके द्वारा किये जा रहे धर्म परिवर्तन पर सवाल उठाया था और कहा था कि इसके पीछे काम कर रहे लोगों को बख्शा नहीं जायेगा। इस कार्यक्रम के बाद आईएएस वंदना दादेल ने अपनी फेसबुक वाल पर एक पोस्ट लिखते हुए कहा था: “सरकारी कार्यक्रमों में भी आदिवासियों के धर्म और धर्म परिवर्तन पर टिप्पणी होने लगे तो मन में सवाल उठना वाजिब है।
क्या इस राज्य में आदिवासी को स्वेच्छा से, सम्मान से अपना धर्म चुनने का भी अब अधिकार नहीं रह गया है? आखिर क्यों अचानक आदिवासियों के धर्म परिवर्तन पर औरों को चिंता होने लगी है, जबकि अशिक्षा, बेरोजगारी, कुपोषण जैसी कितनी ही गंभीर समस्याओं से मेरा समाज जूझ रहा है।”

वंदना के इस पोस्ट के बाद विभाग ने कार्यवाई करते हुए इस महिला अधिकारी को नोटिस जारी कर दिया है जिसमें लिखा है:”20 अक्टूबर 2016 को आपने सोशल मीडिया (फेसबुक) पर सरकार के विरुद्ध टिप्पणी की है। आपकी टिप्पणी कर्तव्य परायणता का उल्लंघन और सरकार के विरुद्ध टिप्पणी की श्रेणी में आता है। आपने अखिल भारतीय सेवा आचरण नियमावली 1968 के नियम 3(1), 7 व 7(1) के प्रावधानों का उल्लंघन किया है। इसलिए उपयुक्त कदाचरण के लिए क्यों न आपके विरुद्ध कार्रवाई की जाये। अपना स्पष्टीकरण 15 दिनों के अंदर दें।”

नोटिस मिलने के बाद वंदना ने चाइल्ड केयर लीव पर जाने का आवेदन दिया है जिसे मंजूरी मिलना फिलहाल बाकी है। नोटिस के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि उन्होंने अभी इसका अध्ययन नहीं किया है। नोटिस देखने और पढ़ने के बाद ही वह कुछ कह सकती हैं।

TOPPOPULARRECENT