Sunday , December 17 2017

महफ़ूज़ अली ख़ां की दरख़ास्त ज़मानत की मुख़ालिफ़त

सी बी आई ने ओबलापुरम माइनिंग कंपनी स्क़ाम के कलीदी मुल्ज़िम और कर्नाटक के साबिक़ वज़ीर गाली जनार्धन रेडडी के पर्सनल स्सिटैंट ( पी ए ) महफ़ूज़ अली ख़ां की दरख़ास्त ज़मानत की आज यहां ख़ुसूसी अदालत में सख़्त मुख़ालिफ़त की ।

सी बी आई ने ओबलापुरम माइनिंग कंपनी स्क़ाम के कलीदी मुल्ज़िम और कर्नाटक के साबिक़ वज़ीर गाली जनार्धन रेडडी के पर्सनल स्सिटैंट ( पी ए ) महफ़ूज़ अली ख़ां की दरख़ास्त ज़मानत की आज यहां ख़ुसूसी अदालत में सख़्त मुख़ालिफ़त की ।

इस मुक़द्दमे के सातवें मुल्ज़िम महफ़ूज़ अली ख़ां फ़िलहाल अदालती तहवील में हैं जिन्हों ने क़बल अज़ीं फ़ौजदारी ताज़ीरी क़वानीन की दफ़ा 167(2) के तहत दरख़ास्त ज़मानत दायर की थी ।

गाली जनार्धन की ओबलापुरम माईनिंग कंपनी की तरफ से गैरकानूनी कानकनी के मुक़द्दमे की तहकीकात करने वाले इदारा सी बी आई ने महफ़ूज़ की दरख़ास्त ज़मानत के ख़िलाफ़ दाख़िल करदा अपने जवाब में इस्तिदलाल पेश किया कि मुल्ज़िम की दरख़ास्त ज़मानत क़ाबिल-ए-ग़ौर नहीं है कीवनका ताज़ीरी क़वानीन की मुताल्लिक़ा दफ़आत के तहत अदालत इस मुल्ज़िम के ख़िलाफ़ सी बी आई की तरफ़ से दायर करदा चार्ज शीट में आइद मुजरिमाना साज़िश , मुजरिमाना एतेमाद शिकनी के इल्ज़ामात की समाअत कररही है ।

सी बी आई ने गाली जनार्धन रेड्डी के अलावा उन के बरादर-ए-निसबती पी वे सिरिनिवास रेडडी और दुसरे तीन मुल्ज़िमीन के ख़िलाफ़ पिछ्ले साल दिसमबर में चार्ज शीट पेश किया था बाद में मुअत्तल शूदा आई ए एस ऑफीसर वाई सिरी लक्ष्मी का नाम भी शामिल किया गया ।

सिरिनिवास रेडडी और सिरी लक्ष्मी फ़िलहाल चंचल गौड़ा जेल में हैं । गाली भी रिश्वत के सिल्सिले मे ज़मानत पर रिहाई के बाद गिरफ़्तारी से पहले तक इसी जेल में थे ।

महफ़ूज़ अली ख़ां की दरख़ास्त पर मंगल को भी समाअत होगी । सी बी आई के मुताबिक़ महफ़ूज़ अली ख़ां , माज़ी में गैरकानूनी कानकनी से मुताल्लिक़ गाली जनार्धन रेडडी की सरगर्मियों में मदद किया करते थे ।

सी बी आई तहकीकात से ये इन्किशाफ़ भी हुआ हैके महफ़ूज़ अली ख़ां मादिनी कानों के मालकीयन को डरा धमकाकर इंतिहाई मामूली कीमतों पर कच्चे धात खरीदा करते थे ।

TOPPOPULARRECENT