माँ बाप कि खिदमत में जिहाद का सवाब

माँ बाप कि खिदमत में जिहाद का सवाब
हजरत अब्दुल्लाह बिन क़ैस रज़ी अल्लाहु तआला अनहु से रिवायत है के, रसूल-ए-पाक (स०) कि खिदमत में हाज़िर होकर एक शख्स ने जिहाद कि इजाज़त तलब कि, फ़रमाया '' तेरे माँ बाप ज़िंदा हैं ?'' उसने अर्ज़ कि हाँ !

हजरत अब्दुल्लाह बिन क़ैस रज़ी अल्लाहु तआला अनहु से रिवायत है के, रसूल-ए-पाक (स०) कि खिदमत में हाज़िर होकर एक शख्स ने जिहाद कि इजाज़त तलब कि, फ़रमाया ” तेरे माँ बाप ज़िंदा हैं ?” उसने अर्ज़ कि हाँ ! ज़िंदा हैं ,फरमाया उन्ही कि खिदमत में जिहाद का सवाब मौजूद है। (बुखारी व मुस्लिम)

Top Stories