Saturday , November 18 2017
Home / Bihar News / मांझी का नीतीश पर निशाना, लालू पर डोरे

मांझी का नीतीश पर निशाना, लालू पर डोरे

हिंदुस्तानी आवाम मोरचा (हम) के जेरे गौर में साबिक़ वजीरे आला जीतन राम मांझी ने पीर को गांधी मैदान में महात्मा गांधी की मूर्ति के नीचे एक रोज़ा फास्टिंग किया। नीतीश हुकूमत की तरफ से मांझी हुकूमत के 34 फैसलों को पलटने के खिलाफ मुनक्कीद

हिंदुस्तानी आवाम मोरचा (हम) के जेरे गौर में साबिक़ वजीरे आला जीतन राम मांझी ने पीर को गांधी मैदान में महात्मा गांधी की मूर्ति के नीचे एक रोज़ा फास्टिंग किया। नीतीश हुकूमत की तरफ से मांझी हुकूमत के 34 फैसलों को पलटने के खिलाफ मुनक्कीद रोज़ा का प्रोग्राम में जीतन राम मांझी समेत दीगर लीडरों ने जहां वजीरे आला नीतीश कुमार पर जम कर हमला बोला, वहीं राजद सरबराह लालू प्रसाद पर भी डोरे डालते दिखे।

उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद 11 मार्च को बिहार एसेम्बली में करिश्मा दिखा दें और नीतीश कुमार को हिमायत नहीं दें, तभी वे उन्हें मानेंगे कि वे गरीबों के हिमायती हैं। सुबह दस बजे से शाम पौने छह बजे तक चले प्रोग्राम में साबिक़ वजीरे आला जीतन राम मांझी ने कहा कि लालू प्रसाद ने गरीबों को जुबान दिया था, यह वह भी मानते हैं। अगर लालू प्रसाद अब भी सुधर जाये और नीतीश कुमार को हिमायत नहीं देकर हटा दें तो सारे फैसले जिसे उन्होंने लिया है, उसे वे ज़मीन पर उतार देंगे।

अगर लालू ने नीतीश का साथ दिया, तो साफ हो जायेगा कि वे गरीबों के हमदर्द नहीं हैं। यह कहा जा रहा है कि उन्होंने आनन-फानन में फैसला लिया है, यह गलत है। लोगों को गुमराह करने के लिए ऐसा किया जा रहा है। क्या जीतन राम मांझी के साइन से ऐसा हुआ, इसलिए अछूत हो गया और उन तजवीजों को खारिज किया गया? 34 फैसले लिये उस पर तहक़ीक़ात हो सकता है। उस पर किताब लिखी जा सकती है।

हम के कोंवेनर साबिक़ वज़ीर वृशिण पटेल, महाचंद्र सिंह, नरेंद्र सिंह, शाहिद अली खान, नीतीश मिश्र, विनय बिहारी, शिवानंद तिवारी, शकुनी चौधरी, जगदीश शर्मा, प्रेम कुमार मणि, ज्ञानेंद्र सिंह ज्ञानू, पूनम देवी, राहुल शर्मा, रवींद्र राय, अजय प्रताप, सुमित सिंह, राजेश्वर राज, अनिल कुमार, साधु यादव, गणोश यादव, रवींद्र मिश्र व कई तंजीमो के लीडर भी थे।

TOPPOPULARRECENT