Tuesday , December 19 2017

मांझी के हिमायत में एक लाख लोग सड़क पर

वजीरे आला जीतन राम मांझी को इक्तिदार से बेदखल करने की खबर फैलते ही दलित-महादलित और अकलियत तबके के एक लाख से भी ज़्यादा लोग सनीचर को दारुल हुकूमत की सड़कों पर आ गए हैं। रियासत के मुखतलिफ़ हिस्सों से इन लोगों के पटना पहुंचने का सिलसि

वजीरे आला जीतन राम मांझी को इक्तिदार से बेदखल करने की खबर फैलते ही दलित-महादलित और अकलियत तबके के एक लाख से भी ज़्यादा लोग सनीचर को दारुल हुकूमत की सड़कों पर आ गए हैं। रियासत के मुखतलिफ़ हिस्सों से इन लोगों के पटना पहुंचने का सिलसिला जुमा देर शाम से ही शुरू हो चुका था।

सुन्नी वक्फ बोर्ड के इंतेजामिया सैयद सारिब अली ने जदयू सदर शरद यादव से बातचीत करने के बाद बताया कि रियासत के वजीरे आला जीतन राम मांझी को गैर कानूनी तरीके से इक्तिदार से बेदखल करने की साजिश के खिलाफ रियासत भर के दलित-महादलित और अकलियत तबके के लोग पटना पहुंच रहे हैं। पटना पहुंचने वाले एक लाख लोगों के रिहाइश और खाना वगैरह की निजाम पटना हाईकोर्ट वाकेय मजार अहाते में की गई है। सारिब अली ने यह भी कहा कि जब तक रियासत में सियासी हाल और मांझी को इक्तिदार से हटाने की इस साजिश का खात्मा नहीं हो जाता, तब तक ये लोग दारुल हुकूमत की सड़कों पर डेरा डाले रहेंगे।

TOPPOPULARRECENT